गर्मी की छुट्टी

01-05-2019

गर्मी की छुट्टी

सुशील कुमार शर्मा

मम्मी कच्ची केरी लाओ
उसकी चटनी आप बनाओ।

लाल कलंदर है खरबूज।
मीठा लगता है तरबूज।

आइसक्रीम मँगवाओ मम्मी।
लगती कितनी यम्मी यम्मी।

गर्मी के दिन कितने अच्छे।
नदी नहाएँ पहन के कच्छे।

रंग बिरंगे पहने कपड़े।
दूर पढ़ाई के सब लफड़े।

मम्मी पापा खूब घुमाएँ।
छुट्टी में सबके घर जाएँ।

झूला मेला और चिड़िया घर।
बर्फ़ का गोला खाते मुँह भर।

गर्मी के दिन बहुत सुहाने।
हम बच्चों को लगे लुभाने।

0 Comments

Leave a Comment