कविता का मंच बनाम मंच की कविता: एक बैठक प्रसिद्ध कवि श्री आलोक श्रीवास्तव जी के साथ - साहित्य के रंग
कविता का मंच बनाम मंच की कविता: एक बैठक प्रसिद्ध कवि श्री आलोक श्रीवास्तव जी के साथ - साहित्य के रंग

..

साहित्य कुञ्ज के इस अंक में

कहानियाँ

अर्द्धांगिनी

आज दीवाली का दिन था वसुधा आँगन में रंगोली डाल रही थी। बच्चे दोस्तों के साथ मौज-मस्ती कर रहे थे। शैलेश सामान लेने बाज़ार गया था। वसुधा की सास बहुत मज़ाकिया स्वाभाव की थीं वसुधा को देख कर बोलीं, "बहुत आगे पढ़ें


एबॉन्डेण्ड - 1

इसे आप कहानी के रूप में पढ़ रहे हैं, लेकिन यह एक ऐसी घटना है जिसका मैं स्वयं प्रत्यक्षदर्शी रहा हूँ। चाहें तो आप इसे एक रोचक रिपोर्ट भी कह सकते हैं। इस दिलचस्प घटना के लिए पूरे विश्वास के आगे पढ़ें


ताई की बुनाई

गेंद का पहला टप्पा मेरी कक्षा अध्यापिका ने खिलाया था। उस दिन मेरा जन्मदिन रहा। तेरहवां। कक्षा के बच्चों को मिठाई बाँटने की आज्ञा लेने मैं अपनी अध्यापिका के पास गया तो वे पूछ बैठीं, “तुम्हारा स्वेटर किसने बुना है? आगे पढ़ें


परिचय

वह चारों एक विवाहोत्सव में पहली बार मिल रही थीं। यूँ एक दूसरे के बारे में काफ़ी कुछ जानती थीं क्योंकि उन सबके पति एक बड़ी मल्टीनेशनल कम्पनी में काम करते थे। आज उसी कम्पनी में कार्यरत एक अन्य कर्मचारी आगे पढ़ें


पागल  (रमेश ’आचार्य’)

जाड़े की गुनगुनी धूप में फुटपाथनुमा बस स्टैंड पर खड़ा, मैं अपनी बस का इन्तज़ार कर रहा था। दूसरी पाली के स्कूली बच्चे झुण्डों में स्कूल जा रहे थे और मेरे पीछे, कचौड़ी की दुकान पर लोगों की इस क़दर आगे पढ़ें


पाना क्या है

सुबह के दस बज रहे थे पर शम्मी अब तक बिस्तर में अलसाये पड़ी थी। उसका पति ‘अनिमेश’ कल रात ही से अपने “ऑफ़िशियल टूर”  पर बंगलोर गया हुआ था। शम्मी आज ऑफ़िस नहीं गई थी। तभी अचानक मोबाईल पर आगे पढ़ें


पेड़ लगाएँ

अख़बार में ख़बर प्रकाशित हुई थी। आज सुबह दस बजे गाँव और शहर के हर कोने व सड़कों पर पेड़ लगाये जाएँगे। सभी लोग अपने-अपने वाहन व मोबाईल व कैमरों को लेकर उपस्थित हुए। क़िस्म-क़िस्म के पेड़ लगाये गये। आपस आगे पढ़ें


मेला

मोहन पन्द्रह साल बाद गाँव आया। मोहन के लिये वह गाँव कम और शहर ज़्यादा हो गया था मतलब पूरा ख़ाका ही बदल गया था।  थोड़ी ही देर बाद मोहन का मित्र चंदु उसे मिलने आया और उसने पूछा, "अरे! आगे पढ़ें


हास्य/व्यंग्य

आपको क्या तकलीफ़ है

रिपोर्टर कैमरामैन को लेकर रिपोर्टिंग करने निकला। वो कुछ डिफ़रेंट दिखाना चाहता था डिफ़रेंट एंगल से। उसे सबसे पहले एक बच्चा मिला।  रिपोर्टर, बच्चे से- "बेटा आपका इस क़ानून के बारे में क्या कहना है?" बच्चा हँसते हुये- "अच्छा है,अंकल आगे पढ़ें


नई नाक वाले पुराने दोस्त

जो भाईजान छींक को भी फ़ेसबुक पर पोस्ट करते रहे हैं, वे भाईजान फ़ेसबुक से कई दिनों से ग़ायब थे। उन्हें फ़ेसबुक से ग़ायब देख पहले तो बुरे बुर ख़्याल आए, पर फिर सोचा कि ग़ायब होना उनकी पुरानी आदत आगे पढ़ें


मौन-व्रत

पहले हमारा उपवास में कोई विश्वास नहीं था, लेकिन जब से नया युग शुरू हुआ है, हमने इन परिस्थितियों से निपटने के लिए उपवास रखने शुरू कर दिये हैं, क्योंकि हमारा मानना है कि यदि किसी युग की धारणा व आगे पढ़ें


आलेख

प्रवासी कथा साहित्य में स्त्री जीवन की अंतर कथा

समकालीन हिंदी कथा साहित्य की दशा और दिशा विभिन्न सैद्धान्तिक विमर्शों के द्वारा तय की जा रही है। कथा साहित्य को स्त्री विमर्श, दलित विमर्श, अल्पसंख्यक विमर्श, आदिवासी विमर्श आदि नाना प्रकार के विमर्शों के खाँचों में भरकर देखने की आगे पढ़ें


विभाजन के बाद सिंधी लेखिकाओं का सिंधी साहित्य में संघर्ष

‘साहित्य में स्त्री संघर्ष’ –स्त्री और संघर्ष- नामक उन्वान अपनी परतें खोलने पर आमादा है, शायद जन्म से ही यह संघर्ष स्त्री को विरासत में मिला है, शक्ति सम्पन्न नारी को किसी लक्ष्य की पूर्ति के लिए कुदरत की ओर आगे पढ़ें


समीक्षा

तपस्या का फल है प्रदीप जी का हाइकु संग्रह - ‘परछाइयाँ’

तपस्या का फल है प्रदीप जी का हाइकु संग्रह - ‘परछाइयाँ’

  समीक्ष्य पुस्तक : परछाइयाँ (हाइकु संग्रह)  हाइकुकार : प्रदीप कुमार दाश "दीपक" प्रकाशक : हर्फ प्रकाशन, नई दिल्ली ISBN : 978-93-87757-24-0  प्रथम संस्करण : 2018 पुस्तक मूल्य : 200/- पृष्ठ : 186  बारह वर्ष की तपस्या का फल है आगे पढ़ें


प्रार्थना-समय: अपने समय के सवालों से मुठभेड़ करती कहानियाँ

प्रार्थना-समय: अपने समय के सवालों से मुठभेड़ करती कहानियाँ

किताब : प्रार्थना-समय [कहानी संग्रह]  लेखक : प्रदीप जिलवाने प्रकाशक : सेतु प्रकाशन, दिल्ली-110092 मूल्य: 148 / - आज का यथार्थ जटिल और बहुस्तरीय है। चर्चित युवा कवि, उपन्यासकार प्रदीप जिलवाने का पहला कहानी संग्रह 'प्रार्थना-समय' नवीन कथा-शिल्प में इस आगे पढ़ें


समाज के यथार्थ की अभिव्यक्ति है सरिता सुराणा की कहानियाँ

समाज के यथार्थ की अभिव्यक्ति है सरिता सुराणा की कहानियाँ

पुस्तक  : माँ की ममता लेखिका  : सरिता सुराणा प्रकाशक : सरिता सुराणा, संजीवय्या हाउसिंग सोसायटी, प्लाट नंबर 33, फर्स्ट फ्लोर, ताडबंद हनुमान मंदिर के सामने, सिख विलेज, सिकन्दराबाद - 500009 हैदराबाद मूल्य : 200 रुपए पेज : 106 “माँ आगे पढ़ें


संस्मरण

मेरी दुबई यात्रा - 2 : क्रूज़ का सफ़र 

मेरी दुबई यात्रा - 2 : क्रूज़ का सफ़र 

वैसे तो दुबई में बहुत से एडवेंचर का लुत्फ़ लिया। लेकिन बुर्ज ख़लीफ़ा के बाद जो दूसरा सबसे यादगार था वह था एक क्रूज़ में सफ़र करना। यह मेरी ज़िन्दगी का पहला इत्तेफ़ाक़ था पानी के जहाज़ में बैठने का। आगे पढ़ें


कविताएँ

शायरी

समाचार

साहित्य जगत - कैनेडा

शिशिर की एक शाम, नृत्य-नाट्योत्सव के नाम

शिशिर की एक शाम, नृत्य-नाट्योत्सव के नाम

23 Nov, 2019

हिन्दी राइटर्स गिल्ड का 11वां वार्षिकोत्सव   नवंबर 17, 2019 मिसीसागा -  टोरोंटो में पिछले ग्यारह वर्षों से अपने एक…

आगे पढ़ें
शरद्‌ काव्योत्सव मासिक गोष्ठी - अक्तूबर 2019

शरद्‌ काव्योत्सव मासिक गोष्ठी - अक्तूबर 2019

25 Oct, 2019

१९ अक्तूबर २०१९—हिन्दी राइटर्स गिल्ड की मासिक गोष्ठी ब्रैम्पटन लाइब्रेरी के सभागार में संपन्न हुई। पतझड़ के मोहक रंगों से…

आगे पढ़ें
हिन्दी हैं हम, चाहे, कोई वतन हमारा…..

हिन्दी हैं हम, चाहे, कोई वतन हमारा…..

28 Sep, 2019

हिन्दी राइटर्स गिल्ड ने 14 सितम्बर 2019 को अपनी मासिक गोष्ठी में ‘हिंदी दिवस’ का सुन्दर आयोजन किया। यह कार्यक्रम…

आगे पढ़ें

साहित्य जगत - भारत

एकदिवसीय राष्ट्रीय शिक्षक उन्नयन कार्यशाला संपन्न

एकदिवसीय राष्ट्रीय शिक्षक उन्नयन कार्यशाला संपन्न

30 Jan, 2020

बैंगलोर, 29 जनवरी (मीडिया विज्ञप्ति)। बिशप कॉटन वीमेन्स क्रिश्चियन कॉलेज की ओर से एकदिवसीय राष्ट्रीय शिक्षक उन्नयन कार्यशाला का आयोजन…

आगे पढ़ें
वीरेन्द्र आस्तिक को 'साहित्य भूषण सम्मान'   

वीरेन्द्र आस्तिक को 'साहित्य भूषण सम्मान'   

31 Dec, 2019

लखनऊ : लखनऊ में सोमवार (दिसंबर 30, 2019) को उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान के स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित…

आगे पढ़ें
विशिष्ट प्रतिभा सम्मान 2019 से सम्मानित हुए बालसाहित्यकार ओमप्रकाश क्षत्रिय 'प्रकाश'

विशिष्ट प्रतिभा सम्मान 2019 से सम्मानित हुए बालसाहित्यकार ओमप्रकाश क्षत्रिय 'प्रकाश'

31 Dec, 2019

राजस्थान के भीलवाड़ा स्थित विनायक विद्यापीठ परिसर में “हम सब साथ साथ” के बैनर तले सातवाँ अंतरराष्ट्रीय सोशल मीडिया एवं…

आगे पढ़ें

साहित्य जगत - विदेश

फ़ॉल्सम, कैलिफ़ोर्निया में 'रचनात्मिका - हिंदी साहित्य मंच' का गठन

फ़ॉल्सम, कैलिफ़ोर्निया में 'रचनात्मिका - हिंदी साहित्य मंच' का गठन

15 Jan, 2020

११ जनवरी २०२०, फ़ॉल्सम, कैलिफ़ोर्निया, संयुक्त राज्य अमेरिका। "विश्व हिंदी दिवस" के सुअवसर पर सैक्रामेंटो तथा आस पास के क्षेत्रों…

आगे पढ़ें
साहित्यकार त्रिलोक सिंह ठकुरेला पाठ्यक्रम में 

साहित्यकार त्रिलोक सिंह ठकुरेला पाठ्यक्रम में 

16 Sep, 2019

सुपरिचित कुंडलियाकार एवं साहित्यकार त्रिलोक सिंह ठकुरेला की रचनाओं​ को XSEED Education की पाठ्य-पुस्तकों में सम्मिलित किया गया है ।…

आगे पढ़ें
कहानी-पाठ एवं चर्चा - उर्मिला जैन का संग्रह ’मोन्टाना’ और कमला दत्त का ’अच्छी औरतें’

कहानी-पाठ एवं चर्चा - उर्मिला जैन का संग्रह ’मोन्टाना’ और कमला दत्त का ’अच्छी औरतें’

21 Jul, 2019

लंदन, 17 जुलाई 2019 – वातायन पोएट्री ऑन साउथ बैंक द्वारा नेहरु सेंटर-लंदन में एक विशेष साहित्यिक समारोह का आयोजन…

आगे पढ़ें
  • विडिओ

  • ऑडिओ