अन्तरजाल पर आपकी मासिक पत्रिका

अन्तरजाल पर साहित्य-प्रेमियों की विश्राम-स्थली
वर्ष: 10, अंक 112,  सितम्बर प्रथम अंक, 2016
ISSN 2292-9754

लेखक या सम्पादक की लिखित अनुमति के बिना पूर्ण या आंशिक रचनाओं का पुर्नप्रकाशन वर्जित है। लेखक के विचारों के साथ सम्पादक का सहमत या असहमत होना आवश्यक नहीं।  सर्वाधिकार सुरक्षित। साहित्य कुंज में प्रकाशित रचनाओं में विचार लेखक के अपने हैं और साहित्य कुंज टीम का उनसे सहमत होना अनिवार्य नहीं है।
सम्पादक:- सुमन कुमार घई; साहित्यिक परामर्श:- डॉ. शैलजा सक्सेना; सहायता - विजय विक्रान्त; संरक्षक - महाकवि प्रो. हरिशंकर आदेश

कविता  |  कहानी  |  लघु-कथा  | सांस्कृतिक-कथा आपबीती  |  आलेख  |  हास्य-व्यंग्य  |   हास्य-व्यंग्य  |  हास्य/व्यंग्य कविताएँ
महाकाव्य  |  अनूदित-साहित्य  |  नाटक  |  लेखक  |  संकलन  |  ई-पुस्तकालय  |  साहित्यिक-चर्चा  |  शोध निबन्ध 
शायरी  |  शायर  |    बाल साहित्य  |  हिन्दी ब्लॉग  |  पुस्तक समीक्षा / पुस्तक चर्चा  |  साक्षात्कार  |  संपादकीय
इस अंक में  |  पुराने अंक  

सम्पादकीय: हिन्दी साहित्य, बाज़ारवाद और पुस्तक बाज़ार.कॉम -

हिन्दी साहित्य और व्यवसाय को जोड़ना पानी में तेल मिलाने वाली बात है। शुरू से ही जब किसी साहित्यकार ने साहित्य को अपनी रोज़ी-रोटी का साधन बना कर संपन्नता की ओर क़दम बढ़ाए उसे दिग्भ्रष्ट कह दिया गया। "अपने आप को बेच दिया" की चिपकी भी लगा दी गई। पूरा पढ़िए

आपके पत्र - शुद्ध लेखन युक्तियाँ - पुस्तक बाज़ार.कॉम -
 इस स्तंभ में साहित्य कुंज व हिन्दी साहित्य के बारे में आपके पत्र प्रकाशित किए जायेंगे।
रचनाओं पर अपनी प्रतिक्रिया के लिए रचना के नीचे "अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें" बटन पर क्लिक करें और अपनी प्रतिक्रिया तुरंत सीधे लेखक/लेखिका को भेजें। धन्यवाद -
इस अंक के पत्र -
१. हिन्दी व्याकरण -
    कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय  
    भारतकोश
    हिन्दी साहित्य\
२. कविता का व्याकरण एवं छंद - भारतकोश

शीघ्र आ रहा है - ई-पुस्तकों का भण्डार! अपनी मनपसन्द ई-पुस्तकें ख़रीदें और अपने टेबलेट, पीसी, ई-रीडर या स्मार्ट फ़ोन पर पढ़ें। जो लेखक अपनी ई-पुस्तक प्रकाशित करवाना चाहते हैं, तुरंत सम्पर्क करें : info@pustakbazar.com
इस अंक की कहानियाँ -
वो
अमित मिश्र
सपनों की उड़ान
आशा रौतेला मेहरा
निर्वहन
शंकर सिंह सेन "निलय"
हास्य-व्यंग्य - (आलेख) हास्य-व्यंग्य - कविता - सांस्कृतिक-कथा -
राजनीतिक निवेश में ऐश ही ऐश - :डॉ. अशोक गौतम
राज़ की बात - प्रमोद यादव
जनमत संग्रह तो बहाना है - मनोहर पुरी
कुँआरा राहुल गाँधी - अशोक परुथी "मतवाला" पसीने की ताक़त - डॉ. रश्मि शील
बाल साहित्य - लघु कथा - साक्षात्कार-
रिमझिम रिमझिम गिरता पानी - प्रिया देवांगन "प्रियू"
पापा जी की प्यारी बिटिया, बालकनी में प्यासी चिड़िया - मनोज कुमार गुप्ता
अँधेरा, कंगाल - विभा रश्मि
नींव, होनहार बिरवान के होत चीकने पात, जिह्वा का वर्चस्व रहेगा - हरि जोशी
अभी भी हैं ऐसे लोग - प्रभुदयाल श्रीवास्तव
साँझे सपने - ओमप्रकाश क्षत्रिय ‘प्रकाश’
मलाल - आशीष कुमार त्रिवेदी
ट्रेन का वो पुराना डब्बा - अवधेश कुमार झा
नवगीत साहित्य का यथार्थ :
(डॉ. जयशंकर शुक्ल से अनिल कुमार पाण्डेय की वार्ता)
आलेख शृंखला - साहित्य और सिनेमा -  शोध निबन्ध -  
इसी बहाने से-
मेपल तले, कविता पले
समीक्षा - 7
डॉ. शैलजा सक्सेना

हिंदी सिनेमा के विकास में फ़िल्म निर्माण संस्थाओं की भूमिका भाग - 2
प्रो एम वेंकटेश्वर, हैदराबाद
अतीत में भूमिगत प्रथम स्वतंत्रता सेनानी : तिलकामांझी -  डॉ. आरती स्मित
नरेश मेहता के काव्य मे सांस्कृतिक चेतना -  डॉ. निशा शर्मा
आर्षकालीन राष्ट्रीयता - रामकेश्वर तिवारी
नृत्य-कला में रसों का निर्वाह तथा मनोवैज्ञानिक पृष्ठ-भूमि - डॉ. पूर्णिमा केलकर
आलेख - शोध निबन्ध -  अनूदित साहित्य
प्रधान मंत्री का सन्देश (आकाशवाणी का तब) - बी.एन. गोयल

प्रकृति की अनुपम देन.. फूलों की घाटी - गोवर्धन यादव
वेदान्त दर्शन और स्वामी विवेकानंद का प्रगतिशील दृष्टिकोण - उमेन्द कुमार चन्देल
हिन्दी में विज्ञान पत्रकारिता - डॉ. विजय कुमार शर्मा
हिंदी परिष्कार और आचार्य महावीर प्रसाद द्विवेदी - डॉ. राजकुमारी शर्मा
साथ
मूल लेखक : गोरधन भेसानिया
अनुवादक : डॉ. रजनीकान्त शाह
कविताएँ - शायरी -
हम दौड़ते रहे, अरे सुबह, तू उठ आयी है - महेश रौतेला
अम्मा! दादू बूढ़ा है - सचिन कमलवंशी
परिधि और केंद्, तुम और मैं - पूनम सिन्हा
सही ग़लत की दुविधा, घर को ही पराया मान लिया - अवधेश कुमार मिश्र "रजत"
किसान, बदनाम लड़की - अनिरुद्ध सिंह सेंगर

तुम्हारा संगीत, हाथ, आवरण - नरेश अग्रवाल
भाई अच्छा कौन?, जगत है शब्दों का ही खेल, चिन्गारी भर दे मन में - श्यामल सुमन
थके हुए लोग, चरित्रहीन - मनोरंजन कुमार तिवारी

जीवन का ज्ञान - डॉ. अनिल चड्डा
चुप - सविता अग्रवाल ’सवि’
नफ़रत की बातें वो घर-घर करेगा, उसकी तरफ़ इशारा, ताक में शैतान बैठा - ठाकुर दास "सिद्ध"
वो परिंदे कहाँ गए, सहूलियत की ख़बर, बस ख़्याले बुनता रहूँ - सुशील यादव

घर मेरा है नाम किसी का, जिसकी है नमकीन ज़िन्दगी - श्यामल सुमन
वो पहली मुलाक़ात थी और क्या था - अनिरुद्ध सिंह सेंगर
पुस्तक समीक्षा / चर्चा-  पुस्तक समीक्षा / चर्चा-  पुस्तक समीक्षा / चर्चा- 

दक्षिण भारत के हिंदी शोध की बानगी : ‘संकल्पना’
अरविंद कुमार सिंह

व्यंग्य नव लेखन में ऊँचे दर्जे का अधिकार : शिकारी का अधिकार
सुरेशकांत

संघर्षरत चेतना और विद्रोह का कवि सुशील कुमार शैली
राहुल देव
यात्रा संस्मरण - यात्रा संस्मरण - आप-बीती / संस्मरण -

कनाडा डायरी के पन्ने
12_दर्पण
सुधा भार्गव

झीलों के शहर नैनीताल की यात्रा
डॉ० मधु सन्धु
जब मैं शर्मसार हुई - उषा बंसल
ऐसे थे हमारे कल्लू भईया! - अजय कुमार श्रीवास्तव
साहित्यिक समाचार -
     
ई - पुस्तकालय - (इस स्तम्भ में पुस्तकों का प्रकाशन धारावाहिक रूप में होगा) संकलन -

भीगे पंख
लेखक : महेश द्विवेदी
सतिया /एक/दो

शकुन्तला
पूर्व खण्ड - प्रथम सर्ग
उदय-
7 8 9 10

महादेवी वर्मा
डॉ. हरिवंश राय बच्चन
आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी
त्रिलोचन शास्त्री
नागार्जुन
सूचना - साहित्य संगम -
साहित्य कुंज के नए अंकों की सूचना पाने के लिए अपना ई-मेल पता भेजें

Powered by us.groups.yahoo.com

अनुभूति-अभिव्यक्ति  
काव्यालय
लघुकथा.com
साहित्य सरिता
विचारों का वृन्दावन वन!
हिन्दी नेस्ट
सृजनगाथा
कृत्या
हिन्दी हाइकु
साहित्य सेतु
अपनी रचनाएँ भेजें:-
कृपया अपनी रचनाएँ निम्नलिखित ई-मेल पर भेजें
sahityakunj@gmail.com
अथवा डाक द्वारा भेजें:-
Sahitya Kunj,
3421 Fenwick Crescent
Mississauga, ON, L5L N7
Canada