अन्तरजाल पर आपकी मासिक पत्रिका

अन्तरजाल पर साहित्य-प्रेमियों की विश्राम-स्थली
वर्ष: 10, अंक 113,  अक्तूबर प्रथम अंक, 2016
ISSN 2292-9754

लेखक या सम्पादक की लिखित अनुमति के बिना पूर्ण या आंशिक रचनाओं का पुर्नप्रकाशन वर्जित है। लेखक के विचारों के साथ सम्पादक का सहमत या असहमत होना आवश्यक नहीं।  सर्वाधिकार सुरक्षित। साहित्य कुंज में प्रकाशित रचनाओं में विचार लेखक के अपने हैं और साहित्य कुंज टीम का उनसे सहमत होना अनिवार्य नहीं है।
सम्पादक:- सुमन कुमार घई; साहित्यिक परामर्श:- डॉ. शैलजा सक्सेना; सहायता - विजय विक्रान्त; संरक्षक - महाकवि प्रो. हरिशंकर आदेश

कविता  |  कहानी  |  लघु-कथा  | सांस्कृतिक-कथा आपबीती  |  आलेख  |  हास्य-व्यंग्य  |   हास्य-व्यंग्य  |  हास्य/व्यंग्य कविताएँ
महाकाव्य  |  अनूदित-साहित्य  |  नाटक  |  लेखक  |  संकलन  |  ई-पुस्तकालय  |  साहित्यिक-चर्चा  |  शोध निबन्ध 
शायरी  |  शायर  |    बाल साहित्य  |  हिन्दी ब्लॉग  |  पुस्तक समीक्षा / पुस्तक चर्चा  |  साक्षात्कार  |  संपादकीय
इस अंक में  |  पुराने अंक  

सम्पादकीय: सपना पूरा हुआ, पुस्तक बाज़ार.कॉम तैयार है-

समय-समय पर अन्य स्थापित लेखकों से बातचीत का अवसर मिला। पुस्तक प्रकाशन में जो समस्याएँ मुझे सुनने को मिलीं, उनमें बहुत समानता थी। सबसे पहली समस्या यह थी कि प्रकाशक बहुत प्रसिद्ध लेखकों को छोड़ कर सभी लेखकों से पुस्तक प्रकाशन के लिए पैसा तो माँगते हैं परन्तु रॉयल्टी के नाम पर कुछ भी नहीं देते। हस्ताक्षरित अनुबंध अगर होता भी है तो वह प्रकाशक के अधिकारों की ही रक्षा करता है, लेखक के नहीं। कितनी पुस्तकें छपीं, और प्रकाशक ने कितनी बेचीं इसकी जानकारी लेखक को नहीं होती और न ही उसे दी जाती है। पूरा पढ़ें...

  पूरा पढ़िए

आपके पत्र - शुद्ध लेखन युक्तियाँ - पुस्तक बाज़ार.कॉम -
 इस स्तंभ में साहित्य कुंज व हिन्दी साहित्य के बारे में आपके पत्र प्रकाशित किए जायेंगे।
रचनाओं पर अपनी प्रतिक्रिया के लिए रचना के नीचे "अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें" बटन पर क्लिक करें और अपनी प्रतिक्रिया तुरंत सीधे लेखक/लेखिका को भेजें। धन्यवाद -
इस अंक के पत्र -
१. हिन्दी व्याकरण -
    कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय  
    भारतकोश
    हिन्दी साहित्य\
२. कविता का व्याकरण एवं छंद - भारतकोश

हिन्दी की ई-पुस्तकें खरीदने और प्रकाशित करवाने के लिए कृपया नीचे दिये लिंक पर क्लिक करें: pustakbazaar.com
एंड्रॉयड उपकरणों (स्मार्ट फ़ोन, टैबलेट इत्यादि की ऐ्प डाउनलोड करें
अपने पीसी (कंप्यूटर के लिए ई-रीडर डाउनलोड करें
इस अंक की कहानियाँ -
आत्म-मंथन
डॉ. अनामिका गुरू रिछारिया
बोहनी
मिर्ज़ा हफ़ीज़
क्या हो विकल्प?
मनोहर पुरी
हास्य-व्यंग्य - (आलेख) हास्य-व्यंग्य - कविता - सांस्कृतिक-कथा -
फोटुओं और कार्यक्रमों का रिश्ता - डॉ. अशोक गौतम
क़िस्सा-ए रामलाल-श्यामलाल - प्रमोद यादव
तू काहे न धीर धरे ......। - सुशील यादव
जीभ चटोरी भी, ... जीभ जूतियाँ भी खिलाती है.... - ज़ेबा रशीद
 
मैं रावण हूँ
अवधेश कुमार झा
बाल साहित्य - लघु कथा -  साक्षात्कार-
थाने का कारकून - प्रभुदयाल श्रीवास्तव स्वागत के अलावा और कोई विकल्प नहीं, स्वार्थ और सत्ता, प्रतिभा का स्वागत - हरि जोशी
मौन, संकल्‍प, रिक्त स्थान - संजय पुरोहित
मास्टर शंभुनाथ - मनोहर पुरी
वो रिक्शा वाला - इंदर भोले नाथ
खाई - राजेंद्र कुमार शास्त्री (गुरु)

"ज़िद है जहां बदलने की...."
फ़िल्म अभिनेता- अभिमन्यु सरकार -
रुचि शुक्ला
आलेख शृंखला - साहित्य और सिनेमा -  शोध निबन्ध -  
इसी बहाने से-
मेपल तले, कविता पले
समीक्षा - 7
डॉ. शैलजा सक्सेना

अपराजेय कथाशिल्पी शरतचंद्र और देवदास
(देवदास के प्रकाशन के सौ वर्ष के संदर्भ में)
रीतिकालीन हिन्दी काव्य में ऊहात्मक विरह-वर्णन - प्रो. डॉ. किशोर गिरडकर
निराला का काव्य : डॉ. रामविलास शर्मा की नज़र में - अश्विनी कुमार लाल
ममता कालिया की कहानियों में दाम्पत्य- संबंधों में कड़वाहट - डॉ. राजकुमारी शर्मा
आलेख - शोध निबन्ध -  अनूदित साहित्य
भूमंडलीकरण के दौर में साहित्य के सरोकार - डॉ. छोटे लाल गुप्ता
अस्पृश्यता के कट्टर विरोधी पं. गोविन्द बल्लभ पंत - विभा खरे

आज़ाद भारत का आगाज़ - बी.एन. गोयल
राष्ट्रगौरवम् में संक्रान्ति-काल-सम्भावना - काजल ओझा
चुटकुले की सामाजिक, सांस्कृतिक पृष्ठभूमि - उमेन्द कुमार चन्देल
आदिवासी समाज हाशिए से केन्द्र की ओर - यदुनन्दन प्रसाद उपाध्याय
रोटी, अनुकरण, बाँग और आरती, क्या पता है… - मूल कवि : उत्तम कांबळे
अनुवाद्क : डॉ. कोल्हारे दत्ता
जमुना
मराठी कहानी "जमुना"
मूल लेखक - रवीन्द्र पिंगे
अनुवादक - विकास वर्मा
कविताएँ - शायरी -
व्यस्तता, अनुत्तरित प्रश्न - सरिता गुप्ता
इंद्रियाँ - डॉ. कनिका वर्मा
क्रोध हूँ मैं, हे आतंकवादियो! - राघवेन्द्र पाण्डेय ‘राघव’
विछोह-१, मेरे नन्हे, मैं कहाँ गलत थी? - शबनम शर्मा
परजीवी, मन यायावर, तुम कहते हो - कामिनी कामायनी
लाडो, ख़्वाबो मेरे ख़्वाबो - विभा नरसिम्हन
विषादधारा, आलसी हम - आकांक्षा बोहरा
पार्क की वह बेंच, घुटन, मैं ख़्वाब सहलाता रहा - सन्तोष कुमार प्रसाद
घास के फूल - शकुन्तला बहादुर
तुम और मैं, आशा की किश्ती, मन का पंछी - डॉ. कुशल चंद कटोच
माँ तेरी ममता को बहुत याद करता हूँ - हरिपाल सिंह रावत
यथार्थ, एक पल, विश्वास, स्वीकार  सुरेन्द्र कुमार सिंह चांस
शिद्दत सह नहीं सकते - आहद खान
आवारगी फ़िजूल है - रामश्याम हसीन
चोट गहरी है जो दिखती नहीं है - समीर कुमार शुक्ल

ये है निज़ाम तेरा, तन्हा हुआ सुशील, सफ़र में - सुशील यादव
पुस्तक समीक्षा / चर्चा-  पुस्तक समीक्षा / चर्चा-  पुस्तक समीक्षा / चर्चा- 

"आँख ये धन्य है"—जो सपनों को साकार होते देख रही है
देवी नागरानी

प्रदीप श्रीवास्तव की कहानियाँ
चंद्रेश्वर

फाइटर की डायरी : मैत्रेयी पुष्पा
प्रो. एम. वेंकटेश्वर
यात्रा संस्मरण - यात्रा संस्मरण - आप-बीती / संस्मरण -

कनाडा डायरी के पन्ने
13_फूल सा फ़रिश्ता
सुधा भार्गव
   
साहित्यिक समाचार -

कमला गोयनका फाउंडेशन एवं व्यंग्य यात्रा का आयोजन
प्र. कमलेश यादव


सृजनगाथा अंतर्राष्ट्रीय साहित्य सम्मानों के लिए प्रविष्टियाँ आमंत्रित
जय प्रकाश मानस

रसाई का लेखन अपने समय की व्याख्या हैः मदन कश्यप
सत्यम सत्येन्द्र पाण्डेय
ई - पुस्तकालय - (इस स्तम्भ में पुस्तकों का प्रकाशन धारावाहिक रूप में होगा) संकलन -

भीगे पंख
लेखक : महेश द्विवेदी
सतिया /एक/दो (१)

शकुन्तला
पूर्व खण्ड - प्रथम सर्ग
उदय-
7 8 9 10

महादेवी वर्मा
डॉ. हरिवंश राय बच्चन
आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी
त्रिलोचन शास्त्री
नागार्जुन
सूचना - साहित्य संगम -
साहित्य कुंज के नए अंकों की सूचना पाने के लिए अपना ई-मेल पता भेजें

Powered by us.groups.yahoo.com

अनुभूति-अभिव्यक्ति  
काव्यालय
लघुकथा.com
साहित्य सरिता
विचारों का वृन्दावन वन!
हिन्दी नेस्ट
सृजनगाथा
कृत्या
हिन्दी हाइकु
साहित्य सेतु
अपनी रचनाएँ भेजें:-
कृपया अपनी रचनाएँ निम्नलिखित ई-मेल पर भेजें
sahityakunj@gmail.com
अथवा डाक द्वारा भेजें:-
Sahitya Kunj,
3421 Fenwick Crescent
Mississauga, ON, L5L N7
Canada