अन्तरजाल पर आपकी मासिक पत्रिका

अन्तरजाल पर साहित्य-प्रेमियों की विश्राम-स्थली
वर्ष: 13, अंक 119, जून अंक, 2017
ISSN 2292-9754

लेखक या सम्पादक की लिखित अनुमति के बिना पूर्ण या आंशिक रचनाओं का पुर्नप्रकाशन वर्जित है। लेखक के विचारों के साथ सम्पादक का सहमत या असहमत होना आवश्यक नहीं।  सर्वाधिकार सुरक्षित। साहित्य कुंज में प्रकाशित रचनाओं में विचार लेखक के अपने हैं और साहित्य कुंज टीम का उनसे सहमत होना अनिवार्य नहीं है।
सम्पादक:- सुमन कुमार घई; साहित्यिक परामर्श:- डॉ. शैलजा सक्सेना; सहायता - विजय विक्रान्त;
संरक्षक - महाकवि प्रो. हरिशंकर आदेश

कविता  शायरी  |  कहानी  |  लघु-कथा  |  सांस्कृतिक-कथा  |  आपबीती  |  आलेख  |  महाकाव्य  | हास्य-व्यंग्य  |  हास्य/व्यंग्य कविताएँ  |  अनूदित-साहित्य  |  नाटक  |  बाल साहित्य  |  संकलन  |  ई-पुस्तकालय  |  शोध निबन्ध |  साहित्यिक-चर्चा  |  लेखक  |  शायर  |  पुस्तक समीक्षा / पुस्तक चर्चा  | साक्षात्कार  |  संपादकीय |
इस अंक में  |  पुराने अंक 

सम्पादकीय: लघुकथा की त्रासदी-
 -वास्तविकता यह है कि लघुकथा की दुर्दशा भी वैसे ही हो रही है जैसे कि अतुकान्त कविता की। जैसे एक वाक्य को टुकड़ों में बाँट कर कवि अतुकांत कविता रच डालते हैं उसी तरह, बिना शिल्प की ओर ध्यान दिये, ज़बरदस्ती लघुकथाएँ गढ़ी जा रही हैं।   पूरा पढ़ें...

आपके पत्र - शुद्ध लेखन युक्तियाँ - पुस्तक बाज़ार.कॉम -
 इस स्तंभ में साहित्य कुंज व हिन्दी साहित्य के बारे में आपके पत्र प्रकाशित किए जायेंगे।
रचनाओं पर अपनी प्रतिक्रिया के लिए रचना के नीचे "अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें" बटन पर क्लिक करें और अपनी प्रतिक्रिया तुरंत सीधे लेखक/लेखिका को भेजें। धन्यवाद -
इस अंक के पत्र - समीक्षा तैलंग

हिन्दी व्याकरण -   

कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय  
भारतकोश
हिन्दी साहित्य\
कविता का व्याकरण एवं छंद - भारतकोश
हिन्दी व्याकरण वीकिपीडिया
पूर्ण विराम के बाद एक स्पेस या डबल स्पेस


हिन्दी की ई-पुस्तकें खरीदने और प्रकाशित करवाने के लिए कृपया नीचे दिये लिंक पर क्लिक करें: pustakbazaar.com
पुस्तक बाज़ार के नये प्रकाशन
इस अंक की कहानियाँ -
कासे कहूँ
डॉ. दीपा गुप्ता
ख़्वाहिशों की "माया"
दामोदर सिंह राजपुरोहित
आकाश का रंग
आशीष रंजन झा
हास्य-व्यंग्य - (आलेख) हास्य-व्यंग्य - कविता - सांस्कृतिक-कथा -
ज़िम्मेदारों के बीच यमराज - डॉ. अशोक गौतम
मुझको प्यार तुमसे है - राम कृष्ण खुराना
 एनजीओ का शौक़ - सुदर्शन कुमार सोनी
अथ श्री आलोचक कथा - अमित शर्मा
पहन के कोट पेंट - अभिषेक कुमार अम्बर
इंसान की इंसानियत - प्रेम एस. गुर्जर
बाल साहित्य - लघु कथा -  साक्षात्कार-
चलो पिताजी गाँव चलें हम, भैया मुझको पाठ पढ़ा दो - प्रभुदयाल श्रीवास्तव आजकल की लड़कियाँ - डॉ. शैलजा सक्सेना
तुलसी विवाह, पिघलता इंद्रधनुष - ऋषभ आदर्श
मानवता, थैंकू भैया -  डॉ. आरती स्मित

आलेख शृंखला - साहित्य और सिनेमा -  शोध निबन्ध -  
इसी बहाने से-
मेपल तले, कविता पले
समीक्षा - 7
डॉ. शैलजा सक्सेना


हिंदी सिनेमा में स्त्री विमर्श का स्वरूप
प्रो. एम. वेंकटेश्वर
डेनमार्क की हिन्दी लेखिका अर्चना पैन्यूली के उपन्यास "वेयर डू आई बिलांग" का साहित्यिक मूल्यांकन - डॉ॰ नवनीत कौर
अछूते विषय और हिन्दी कहानी
(प्रवासी महिला कहानीकारों के विशेष संदर्भ में)
- डॉ. मधु सन्धु
महिला कथा साहित्य में दाम्पत्यगत दूरियों की ईमानदार स्वीकृति - डॉ. संदीप रणभिरकर
आलेख - शोध निबन्ध -  अनूदित साहित्य
संस्मरणात्मक रोचक आलेख शृंखला
अपनी बात: भाग - 1
डॉ. रमानाथ शर्मा
कितनी सार्थक होती हैं दूरदर्शन पर होने वाली बहस
मनोहर पुरी
हिंदी उपन्यास "मरंग गोड़ा नीलकंठ हुआ" और जनांदोलन - ध्रुव कुमार
आदिवासी जीवन और हिंदी उपन्यास ‘मरंगगोड़ा नीलकंठ हुआ’ - राकेश डबरिया
रामविलास शर्मा : प्रेमचन्द का साहित्यकर्म - बिजय कुमार रबिदास
वेदना का व्याख्याकार
भाग - 2
अनुवादक : विकास वर्मा
मूल कहानी – दि इंटरप्रेटर ऑफ मैलडीज़ (अंग्रेज़ी)
लेखिका : झुम्पा लाहिरी
कविताएँ - शायरी -
घर, अनाथ पत्ता, गुड़िया, अधिकार -  डॉ. आरती स्मित
घर से भागी हुई लड़कियाँ - रजनी कुमारी
छोटी स्केल, और कई कुंतियाँ, तलाक़, हे देव!, मैं, थक गया हिंदुत्व हूँ - आशीष "वैरागी"
नेपथ्य, तुम्हारा पावरहाउस, मैंने सहेजा है तुम्हें - गौरव भारती
मृत्यु, डिब्बे में ज़िन्दगी - उत्तम टेकड़ीवालपत्थर
नया प्रेम, माँ हो न! - सुरेन्द्र कुमार सिंह चांस
इन दिनों - अनुपम रमेश किंगर
वे आ रहें हैं, जूतियाँ, मुर्दे, विजय पताका - ध्रुव सिंह "एकलव्य''
पिता की अस्थियाँ - सुशील यादव
ये कौन सी उमस है, पहली बरसात, माँ आज मैंने तुम्हें याद किया - सन्तोष कुमार प्रसाद
गाँठ में बाँध लाई थोड़ी सी कविता, वो रोती नहीं अब, वो तरक़्क़ी पसंद है, स्त्री कविता क्या है, वो झरना बनने की तैयारी में है, कठिन है माँ बनना - डॉ. शैलजा सक्सेना
प्यार से रोशन ख़ुदाया - गंगाधर शर्मा "हिन्दुस्तान"
दरया तलाश कर ना समन्दर तलाश कर - मुकेश इन्दौरी
मिल रही है शिकस्त, कोई सबूत न गवाही मिलती, जब आप नेक-नीयत - सुशील यादव
नवगीत - नवगीत - नवगीत समीक्षा
अनगिन बार पिसा है सूरज, कहो कबीर!,
शब्द अपाहिज मौनीबाबा -  शिवानन्द सिंह ‘सहयोगी’
   
पुस्तक समीक्षा / चर्चा-  पुस्तक समीक्षा / चर्चा-  पुस्तक समीक्षा / चर्चा- 

आत्ममंथन से व्यंग्यमंथन तक
एम एम चन्द्रा

रामकिशोर उपाध्याय की काव्यकृति "दीवार में आले"
प्रो. ऋषभदेव शर्मा
 
यात्रा संस्मरण - आप-बीती / संस्मरण - नाटक -
कनाडा डायरी के पन्ने
19_कनेडियन माली
सुधा भार्गव
भैया तुम्हारा हैट कहाँ है
नीरजा द्विवेदी
 
साहित्यिक समाचार -
     
ई - पुस्तकालय - (इस स्तम्भ में पुस्तकों का प्रकाशन धारावाहिक रूप में होगा) संकलन -

भीगे पंख
लेखक : महेश द्विवेदी
मोहित और सतिया /दो/-2

शकुन्तला
पूर्व खण्ड - प्रथम सर्ग
उदय-
7 8 9 10

महादेवी वर्मा
डॉ. हरिवंश राय बच्चन
आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी
त्रिलोचन शास्त्री
नागार्जुन
सूचना - साहित्य संगम -
साहित्य कुंज के नए अंकों की सूचना पाने के लिए अपना ई-मेल पता भेजें

Powered by us.groups.yahoo.com

अनुभूति-अभिव्यक्ति  
काव्यालय
लघुकथा.com
साहित्य सरिता
विचारों का वृन्दावन वन! (साउंड क्लाऊड)
हिन्दी नेस्ट
सृजनगाथा
कृत्या
हिन्दी हाइकु
साहित्यसुधा
अपनी रचनाएँ भेजें:-
कृपया अपनी रचनाएँ निम्नलिखित ई-मेल पर भेजें
sahityakunj@gmail.com
अथवा डाक द्वारा भेजें:-
Sahitya Kunj,
3421 Fenwick Crescent
Mississauga, ON, L5L N7
Canada