अन्तरजाल पर आपकी मासिक पत्रिका

अन्तरजाल पर साहित्य-प्रेमियों की विश्राम-स्थली
वर्ष: 14, अंक 127, फरवरी  अंक, 2019
ISSN 2292-9754

लेखक या सम्पादक की लिखित अनुमति के बिना पूर्ण या आंशिक रचनाओं का पुर्नप्रकाशन वर्जित है। लेखक के विचारों के साथ सम्पादक का सहमत या असहमत होना आवश्यक नहीं।  सर्वाधिकार सुरक्षित। साहित्य कुंज में प्रकाशित रचनाओं में विचार लेखक के अपने हैं और साहित्य कुंज टीम का उनसे सहमत होना अनिवार्य नहीं है।
सम्पादक:- सुमन कुमार घई; साहित्यिक परामर्श:- डॉ. शैलजा सक्सेना; सहायता - विजय विक्रान्त; शायरी संपादक:- अखिल भंडारी
संरक्षक - महाकवि प्रो. हरिशंकर आदेश

कविता  नवगीत  |  शायरी  |  कहानी  |  लघु-कथा  |  सांस्कृतिक-कथा  |  आपबीती  |  आलेख  |  महाकाव्य  |
हास्य-व्यंग्य  |  हास्य/व्यंग्य कविताएँ  |  अनूदित-साहित्य  |  नाटक  |  बाल साहित्य  |  संकलन  |  ई-पुस्तकालय  |  शोध निबन्ध |  साहित्यिक-चर्चा  |  लेखक  |  शायर  |  पुस्तक समीक्षा / पुस्तक चर्चा  | साक्षात्कार  |  संपादकीय |
इस अंक में  |  पुराने अंक 

संपादकीय - शुद्ध लेखन युक्तियाँ - पुस्तक बाज़ार.कॉम -
हिन्दी वर्तनी मानकीकरण और हिन्दी व्याकरण -
आप लोगों में से बहुत से विद्वान और विदुषियाँ हैं जिन से मैं बहुत कुछ सीख सकता हूँ। आप लोगों से विशेष अनुरोध है कि आप वीकिपीडिया के इन पृष्ठों को पढ़ कर अपनी प्रतिक्रिया भेजें और इन पृष्ठों की उपयोगिता के बारे में अपने विचारों को बाक़ी के पाठकों के साथ साझा करें।
पूरा पढ़ें...

हिन्दी व्याकरण -   

हिन्दी वर्तनी मानकीकरण

कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय  
भारतकोश
हिन्दी साहित्य\
कविता का व्याकरण एवं छंद - भारतकोश
हिन्दी व्याकरण वीकिपीडिया
पूर्ण विराम के बाद एक स्पेस या डबल स्पेस


हिन्दी की ई-पुस्तकें खरीदने और प्रकाशित करवाने के लिए कृपया नीचे दिये लिंक पर क्लिक करें: pustakbazaar.com
इस अंक की कहानियाँ -
इन्द्रजाल
शैलेन्द्र चौहान
बेशर्म
छाया अग्रवाल ‘वेदना’
नमक बेईमानी का
अजय अमिताभ सुमन
गौरैया रानी
राजेंद्र कुमार शास्त्री (गुरु)
काग़ज़
शिवानी कोहली
कसौटी रिश्ते की
निर्मला कपिला
हास्य-व्यंग्य - (आलेख) हास्य-व्यंग्य - कविता - सांस्कृतिक-कथा -
अपने गंजे, अपने कंघे - डॉ. अशोक गौतम
प्रभु मोरे अवगुण चित्त न धरो - सुशील यादव
विधानसभा में भूत - डॉ. नरेंद्र शुक्ल
हनुमान की बेकली - सुनील चौधरी
इश्तिहार - निवेदिता शर्मा
डूब गई लुटिया - हरिहर झा
व्यापार - अजय अमिताभ सुमन
 
बाल साहित्य - लघु कथा - आलेख -
सोशल मीडिया का राजकुमार (कहानी) - संजीव जायसवाल ‘संजय’
जा भैया जल्दी चल - डॉ. प्रमोद सोनवानी ‘पुष्प’
भैंस मिली छिंदवाड़े में, अंगद जैसा - प्रभुदयाल श्रीवास्तव
लहराता खिलौना, सत्यव्रत - डॉ. चंद्रेश कुमार छतलानी
रखैल - मुकेश शेषमा
सफलता का सूत्र - विश्वम्भर पाण्डेय 'व्यग्र'
कविता - सुनीता बहल
ज़िन्दगी एक छोटा सा लक्ष्य - अनुज गुप्ता
मानवीय सृजन में ‘क्षण‘ की भूमिका - धीरेन्द्र प्रताप सिंह
परिचर्चा - शोध निबन्ध -   शोध निबन्ध -  
परिचर्चा आवश्यक क्यों?
चिंता का विषय - सम्मान और उपाधियाँ
सुमन कुमार घई
अमिताभ वर्मा
डॉ. पुष्पलता भट्ट
हिन्दी टाईपिंग रोमन या देवनागरी और वर्तनी
शकुन्तला बहादुर
समकालीन हिन्दी कविता में बदलते राजनीतिक संदर्भ - महेश एस. रणेंद्र की कहानियों में दर्ज आदिवासियों का दर्द - धीरेन्द्र प्रताप सिंह
आलेख - सिनेमा और साहित्य - अनूदित साहित्य

पाठ्यक्रम में प्रेमचंद: अनौपचारिक शिक्षण के मेरे कुछ अनुभव
रविन्द्र कुमार मारू

तेलुगु की सर्वकालिक लोकप्रिय पौराणिक फ़िल्म ‘मायाबजार‘
डॉ. एम वेंकटेश्वर
 
कविताएँ - शायरी -
बेकार, अनचाही - निवेदिता शर्मा
मेरी दुनिया, एक बार फिर से - अनिल खन्ना
स्वप्न तट, यात्रा, प्रेम क़ब्र और पलाश - डॉ. किरण तिवारी
चोरनी पक्की - हरिहर झा
निश्चल प्रेम - कौशल अल्मोड़ा
रोटी - सागर कमल
अपनों को क्यों भूल गए - सुनील चौधरी
स्वयं अपने दीपक बनो - प्रकाश त्रिपाठी
गणतंत्र - ज़हीर अली सिद्दीक़ी
उजले सपने धुंधली यादें, आसक्ति-विरक्ति द्वंद्व - लोकेश शुक्ला "निर्गुण"
विदा 2018 - रवि पुरोहित
किन्तु विवश हूँ, तुम मेरी प्राण दीपक मैं तेरा आशियाना, भारत माँ के पुनरोदय की नींव बिछाने आया हूँ - हर्यंक 'प्रांजल'
ऐसा क्यों होता है?, मैं तो अभी बच्चा हूँ - राजेंद्र कुमार शास्त्री (गुरु)
आस्था का महाकुंभ - प्रभांशु कुमार
मृत्यु : जीवन का यथार्थ - वान्या
किसान - सुनीता बहल
मेरे एहसास, समझ पाते, किराए का मकां, सुनिश्चित था - रचनासिंह "रश्मि"
दीपक, सरिता - अमरेश सिंह भदौरियाt
जहाँ में इक तमाशा हो गए हैं - अखिल भंडारी
आगाज़ - ज़हीर अली सिद्दीक़ी
नवगीत - नवगीत - नवगीत समीक्षा
रफ़्तार सदी की, पाती - अमरेश सिंह भदौरिया मेघ जीवन - बासुदेव अग्रवाल 'नमन'  
पुस्तक समीक्षा / चर्चा-  पुस्तक समीक्षा / चर्चा-  पुस्तक समीक्षा / चर्चा- 

उस दौर से इस दौर तक : समीक्षा
प्रतीक श्री अनुराग

विविध भावों के हाइकु : यादों के पंछी
डॉ. नितिन सेठी
 
यात्रा संस्मरण - संस्मरण - नाटक -
कनाडा डायरी के पन्ने
27_दर्द के तेवर
सुधा भार्गव
   
साहित्यिक समाचार -

 नाटक ’उधार का सुख’ की सफलता:
हिन्दी राइटर्स गिल्ड की उपलब्धियों में नया मील का पत्थर

डॉ. शैलजा सक्सेना

एलूरु में द्विदिवसीय त्रिभाषी अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन संपन्न
डॉ. गुर्रमकोंडा नीरजा

क्षितिज संस्था द्वारा लघुकथा समग्र सम्मान 2019 आयोजित
ई - पुस्तकालय - (इस स्तम्भ में पुस्तकों का प्रकाशन
धारावाहिक रूप में होगा)
संकलन -
 
शकुन्तला
पूर्व खण्ड - प्रथम सर्ग
उदय-
7 8 9 10
महादेवी वर्मा
डॉ. हरिवंश राय बच्चन
आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी
त्रिलोचन शास्त्री
नागार्जुन
सूचना - साहित्य संगम -
साहित्य कुंज के नए अंकों की सूचना पाने के लिए अपना ई-मेल पता भेजें

Powered by us.groups.yahoo.com

अनुभूति-अभिव्यक्ति  
काव्यालय
लघुकथा.com
साहित्य सरिता
विचारों का वृन्दावन वन! (साउंड क्लाऊड)
हिन्दी नेस्ट
सृजनगाथा
कृत्या
हिन्दी हाइकु
साहित्यसुधा
अपनी रचनाएँ भेजें:-
कृपया अपनी रचनाएँ निम्नलिखित ई-मेल पर भेजें
sahityakunj@gmail.com
अथवा डाक द्वारा भेजें:-
Sahitya Kunj,
3421 Fenwick Crescent
Mississauga, ON, L5L N7
Canada