कर्तव्यनिष्ठता

01-07-2020

कर्तव्यनिष्ठता

राजनन्दन सिंह

ठीक है
धन का लालच
तुम्हें अपने कर्तव्य से
डिगा नहीं सकता
अच्छी बात है
तो फिर गुमान 
अपनी ग़रीबी पर क्यों?
अपने त्याग पर करो
क्योंकि अच्छी बात
तुम्हारी कर्तव्यनिष्ठता है
तुम्हारा त्याग है
तुम्हारा अडिग होना है
तुम्हारी ग़रीबी नहीं

0 टिप्पणियाँ

कृपया टिप्पणी दें

लेखक की अन्य कृतियाँ

कविता
किशोर साहित्य कविता
बाल साहित्य कविता
हास्य-व्यंग्य कविता
नज़्म
विडियो
ऑडियो