बाल श्रमिक

राजनन्दन सिंह

सुनो 
बाल श्रमिक शोषकों
मैं भी श्रमिक नेता हूँ
माफ़ करना अभिनेता हूँ
यदि तुम बाल श्रमिक रखते हो
तो सबसे पहले मेरा मुँह बंद करो
क्योंकि मैं
बाल श्रमिकों का 
पंजीकृत शुभचिन्तक हूँ
और चुप रहने को 
मैं  सुबह शाम
कुछ हड्डियाँ लेता हूँ
तुम चाहो तो
हफ़्ते में कुछ दे देना
और याद रखना
बच्चों से काम लेना है
तो इधर भी कुछ देना है
ताकि मैं अभिनय करता रहूँ
कि सब कुछ ठीक है
सब कुछ सटीक है

0 टिप्पणियाँ

कृपया टिप्पणी दें

लेखक की अन्य कृतियाँ

कविता
सम्पादकीय प्रतिक्रिया
हास्य-व्यंग्य कविता
किशोर साहित्य कविता
बाल साहित्य कविता
नज़्म
विडियो
ऑडियो

विशेषांक में