चलो ढूँढ़ें उस चिड़िया को

01-11-2020

चलो ढूँढ़ें उस चिड़िया को

राजेश ’ललित’

चलो ढूँढ़ें उस चिड़िया को
होती थी कभी डाल डाल पर
अब कहीं नहीं दिखती है
सुना है किसी बड़े से
जंगल में बसती है 
 
चलो ढूँढ़ें अब उस जंगल को
जहाँ वह चिड़िया बसती है
जंगल जंगल हवा चली है
हवा चली तो आग लगी है
जहाँ पर सारी आग लगी हो
वहाँ न कोई चिड़िया बसती है?
 
चलो चलें उस जंगल में 
जिसमें आग लगी है
न इसमें चिड़िया बसती
न ही इसमें हिरण दौड़ते
न इंसानों की बसती है
 
जंगल जंगल कहाँ बचे हैं?
जहाँ देखो इंसानों की बसती है
हर हाथ में आरी दिखती
हर डाल को वह कटती है
सूने हो गये वो सब जंगल
जहाँ वो चिड़िया बसती है

0 टिप्पणियाँ

कृपया टिप्पणी दें