डॉ. आर.बी. भण्डारकर

डॉ.  आर.बी. भण्डारकर

डॉ. आर.बी. भण्डारकर

भोपाल
शिक्षा :

  • एम.ए.- (हिंदी साहित्य) जीवाजी विश्वविद्यालय ग्वालियर।

  • बी.एड.- बरकतुल्लाह विश्वविद्यालय भोपाल।

  • पीएच.डी.-(हिंदी साहित्य)- जीवाजी विश्वविद्यालय ग्वालियर।

  • डी. लिट्.-(हिंदी साहित्य))-बी आर ए बिहार विश्वविद्यालय मुजफ्फरपुर(बिहार)

नौकरी :

  • शैक्षिक सेवाएँ म.प्र. शासन आदिम जाति कल्याण विभाग- व्याख्याता, प्राचार्य

  • जवाहर नवोदय विद्यालय में प्राचार्य

  • सूचना प्रसारण मंत्रालय,भारत सरकार के उपक्रम दूरदर्शन में उप महानिदेशक, फिर इसी पद से 31नदिसंबर 2011 को सेवा निवृत्त।

रचनाएँ:- 
कविता:

  • दिशाएँ मौन (2000)

  • वनजा (2015 )

  • अक्षर अक्षर ब्रह्म (2016)

  • संकलनों में-काव्य निधि (2017) प्रकाशक नई कलम पब्लिशिंग हाउस 69/156 दाना खोरी स्टेशन रोड कानपुर में रचनाएँ शामिल।

लघुकथा:

  • चौधरी धनीराम सिंह (2017 ई)

  • संकलनों में-स्वाभिमान (मातृभारती द्वारा वर्ष 2018 में प्रकाशित संकलन "स्वाभिमान" में एतद विषयक लघुकथा पुरस्कृत एवं प्रकाशित।)

  • संकलनों में-लघुकथा मंजूषा-4 प्रकाशन 2019,प्रकाशक वर्जिन साहित्यपीठ में लघुकथाएँ संकलित।

आलेख :

  • लागी लगन (2013 ई)

  • धनमंती (2018 ई )

  • डॉ आर बी भण्डारकर: संचयिता,सम्पादक प्रो.राजीवकुमार (अप्रकाशित रचनाओं का संग्रह)

आलोचना :

  • सूर सागर का ध्वनि सिद्धान्तीय अध्ययन (पीएच.डी. शोध प्रबंध)

  • प्रेमचंद साहित्य में प्रयुक्त व्यक्तिवाची नामों का भाषा परक अध्ययन (डी. लिट्.शोध प्रबन्ध)

सम्मान :

  • महाविद्यालयीन छात्र संघ में विद्यार्थी सहायक सभा मंत्री मनोनीत। (1971-72) 

  • नाट्य संस्था मुजफ्फरपुर द्वारा "संरचना सम्मान "(1997 ई)

  • सामाजिक संस्था ग्वालियर विकास समिति ग्वालियर द्वारा "टेलेंट ऑफ द इयर " सम्मान (2004 ई)

  • सनातन धर्म शिक्षा समिति ग्वालियर द्वारा "लाला रामजी दास वैश्य स्मृति विशेष सम्मान" (2007 ई)

  • जीवाजी विश्वविद्यालय ग्वालियर के भाषा अध्ययन संस्थान द्वारा "वरिष्ठ साहित्य-सेवी सम्मान"(2009)