नानी की चतुराई 

01-03-2020

नानी की चतुराई 

डॉ. आर.बी. भण्डारकर

देखो यह हैं मेरी नानी
भोली-भाली लेकिन ज्ञानी।
हम दोनों पहुँचे स्कूल
मैं तो रहा ख़ुशी से फूल।


अख़बार दिया मैडम ने एक
फ़्रॉक बनाओ इसकी नेक।
नानी ने कीन्हीं चतुराई
कैंची से मेरी फ़्रॉक बनाई।


सैलो टेप से उसे चिपकाया
सिलने का झंझट निपटाया।
सुंदर फ़्रॉक मुझे पहनाई
मेरे चेहरे पर मुस्कान आई।

0 टिप्पणियाँ

कृपया टिप्पणी दें