ज़िद्दी बबलू

15-10-2019

बाइक तेज़ चलाये बबलू
समझाने से ना माने।
हुआ एक दिन एक्सीडेंट तो
फिर पुलिस ले गयी थाने॥

 

थानेदार ने जुर्माना ले
जब जमकर डाँट लगाई।
उस दिन से फिर बबलू ने
न बाइक तेज़ दौड़ाई॥

0 टिप्पणियाँ

कृपया टिप्पणी दें

लेखक की अन्य कृतियाँ

किशोर साहित्य कविता
कविता - हाइकु
बाल साहित्य कविता
कविता
किशोर साहित्य आलेख
बाल साहित्य आलेख
अपनी बात
किशोर साहित्य लघुकथा
लघुकथा
हास्य-व्यंग्य कविता
गीत-नवगीत
विडियो
ऑडियो