पर्यावरण बचाना है

15-10-2019

पर्यावरण बचाना है

नरेंद्र श्रीवास्तव

हमने  यह सीखा, जाना है।
एक पौधा हमें लगाना है॥

 

यह जीवन स्वस्थ बनाना है।
हमें पर्यावरण बचाना है॥

 

जन्मदिन ऐसे मनायेंगे।
पौधा मिल सभी लगायेंगे॥

 

तरह-तरह के फूल खिलेंगे।
फल मीठे रसदार मिलेंगे॥


शुद्ध हवा,छाया पायेंगे।
मस्त रहें, नाचें,गायेंगे॥

0 Comments

Leave a Comment

लेखक की अन्य कृतियाँ

बाल साहित्य कविता
कविता
बाल साहित्य आलेख
किशोर साहित्य कविता
अपनी बात
कविता - हाइकु
किशोर साहित्य लघुकथा
लघुकथा
हास्य-व्यंग्य कविता
नवगीत
विडियो
ऑडियो