पर्यावरण बचाना है

15-10-2019

पर्यावरण बचाना है

नरेंद्र श्रीवास्तव

हमने  यह सीखा, जाना है।
एक पौधा हमें लगाना है॥

 

यह जीवन स्वस्थ बनाना है।
हमें पर्यावरण बचाना है॥

 

जन्मदिन ऐसे मनायेंगे।
पौधा मिल सभी लगायेंगे॥

 

तरह-तरह के फूल खिलेंगे।
फल मीठे रसदार मिलेंगे॥


शुद्ध हवा,छाया पायेंगे।
मस्त रहें, नाचें,गायेंगे॥

0 टिप्पणियाँ

कृपया टिप्पणी दें

लेखक की अन्य कृतियाँ

किशोर साहित्य कविता
बाल साहित्य कविता
कविता
किशोर साहित्य आलेख
बाल साहित्य आलेख
अपनी बात
कविता - हाइकु
किशोर साहित्य लघुकथा
लघुकथा
हास्य-व्यंग्य कविता
नवगीत
विडियो
ऑडियो