मुझ पर आई आफ़त

15-05-2019

मुझ पर आई आफ़त

नरेंद्र श्रीवास्तव

पिंकू ने पड़ोसी चाचा को
झट मोबाइल लगाया।
चाचा! खेत में भैंस घुसी है
उनको यह बतलाया॥

बोले चाचा-दूर बहुत हूँ
मेरा आना ना आसान।
तू ही बेटा! भैंस भगा दे
मुझ पर कर ऐहसान॥

मन ही मन पिंकू बोला
मुझ पर आई आफ़त।
कैसे भैंस भगाऊँ जाकर
जब मेरी ही शरारत॥

समझे चाचा हँसकर बोले
बेटा! मुझसे नहीं छुपाओ।
माफ़ किया फिर भी तुझे
जा, अब तो भैंस भगाओ॥

0 Comments

Leave a Comment

लेखक की अन्य कृतियाँ

बाल साहित्य कविता
कविता
बाल साहित्य आलेख
किशोर साहित्य कविता
अपनी बात
कविता - हाइकु
किशोर साहित्य लघुकथा
लघुकथा
हास्य-व्यंग्य कविता
नवगीत
विडियो
ऑडियो