आज अचानक हुई बारिश में

15-03-2015

आज अचानक हुई बारिश में

डॉ. मनीष कुमार मिश्रा

आज अचानक हुई बारिश में
भीगते हुए बुरा लग रहा था

क्योंकि वो बारिश याद रही
जिसमें एक छाते में सिमटकर

हम बारिश से बच तो रहे थे
मगर भीग भी रहे थे

एक–दूसरे के साथ
एक–दूसरे के प्यार में।

0 टिप्पणियाँ

कृपया टिप्पणी दें

लेखक की अन्य कृतियाँ

पुस्तक समीक्षा
कहानी
शोध निबन्ध
साहित्यिक आलेख
सामाजिक आलेख
कविता
कविता - क्षणिका
विडियो
ऑडियो

विशेषांक में