मोटे मुछंदर पिया

23-02-2019

मोटे मुछंदर पिया

डॉ. शैलजा सक्सेना

 

(हास्य - सवैया)

नैनिन तिरीछे करि, सैनिन बतावति
मोटे मुछंदर पिया, गाँव के सिपहैया हैं,
एम.एल.ए., एम.पी., पहुँचि बतावति,
छोटे औ बड़े चोर, सबके ये भैया हैं,
इन तै डरे है, सारा गाम, परधान तक
रुष्ट हुए ये, तो राम ही रखैया हैं,
घर में है टी.वी., ए.सी., कार पै करत दौरा
कलिजुग के ये, थानेदारनी के सैंया हैं।।

0 टिप्पणियाँ

कृपया टिप्पणी दें

लेखक की अन्य कृतियाँ

लघुकथा
साहित्यिक आलेख
पुस्तक चर्चा
कविता
नज़्म
कहानी
कविता - हाइकु
पुस्तक समीक्षा
कविता-मुक्तक
स्मृति लेख
विडियो
ऑडियो