सरस्वती वंदना

15-01-2020

सरस्वती वंदना

आलोक कौशिक

हम मानुष जड़मति 
तू माँ हमारी भारती 
आशीष से अपने 
प्रज्ञा संतति का सँवारती 


तिमिर अज्ञान का दूर 
करो माँ वागीश्वरी 
आत्मा संगीत की 
निहित तुझमें रागेश्वरी 


वाणी तू ही तू ही चक्षु 
माँ वीणा-पुस्तक-धारिणी 
तू ही चित्त बुद्धि तू ही 
कृपा करो जगतारिणी 


विराजो जिह्वा पे धात्री 
हे देवी श्वेतपद्मासना 
क्षमा करो अपराधों को 
स्वीकार करो उपासना 
 

0 Comments

Leave a Comment