संचार अवरोध

15-02-2020

संचार अवरोध

शैलेन्द्र चौहान

प्यार की तरंगें
ईथरीय माध्यम से
परावर्तित और प्रत्यावर्तित होतीं
पहुँचतीं
मन और हृदय तक
करतीं हस्तक्षेप
वायु में प्रवाहित
अन्य अनंत
प्रतिरोधी तरंगें


सुनिश्चित होने पर
आनुपातिक संबंध तरंगदैर्ध्य और
आवृत्ति का
गूँजने लगता
मधुर संगीत


मिसमैच होने पर आवृत्तियों के
सुनाई देतीं
अवांछित ध्वनियाँ
रह जातीं मधुर धुनें
अनसुनी।

0 Comments

Leave a Comment

लेखक की अन्य कृतियाँ

कविता
पुस्तक समीक्षा
साहित्यिक आलेख
कहानी
हास्य-व्यंग्य आलेख-कहानी
सामाजिक आलेख
स्मृति लेख
आप-बीती
विडियो
ऑडियो