प्यारा- प्यारा चन्दा मामा
लिए साथ में आता तारे।

पंख लगाकर सूरज आता
रोज़ सवेरे पास हमारे।

तितली को सुन्दर रंगों के
ये कपड़े पहनाए किसने?

ठण्डी-ठण्डी हवा चलाई
सुन्दर फूल खिलाए किसने?

0 टिप्पणियाँ

कृपया टिप्पणी दें

लेखक की अन्य कृतियाँ

कविता
साहित्यिक आलेख
बाल साहित्य कविता
नवगीत
लघुकथा
सामाजिक आलेख
हास्य-व्यंग्य कविता
पुस्तक समीक्षा
बाल साहित्य कहानी
कविता-मुक्तक
दोहे
कविता-माहिया
विडियो
ऑडियो