लालू, कालू मोहन,सोहन,
चलो चलें अब पिकनिक में।
लीला, शीला, कविता, रोशन,
चलो चलें अब पिकनिक में।
  
ले जायेंगे आलू बेसन,
चलो चलें अब पिकनिक में।
वहीं तलेंगे भजिये छुन-छुन,
चलो चलें अब पिकनिक में।
  
चलकर सीखेंगे योगासन,
चलो चलें अब पिकनिक में।
योगासन पर होगा भाषण,
चलो चलें अब पिकनिक में।
  
प्रिंसिपल  होंगे मंचासन,
चलो चलें अब पिकनिक में।
रखना है पूरा अनुशासन,
चलो चलें अब पिकनिक में।
  
गायेंगे सब बच्चे गायन,
चलो चलें अब पिकनिक में।
लाओ अपने अपने वाहन,
चलो चलें अब पिकनिक में।
  
मनमोहक दिन, है मनभावन ,
चलो चलें अब पिकनिक में।
खुशियों से भर जाएगा मन ,
चलो चलें अब पिकनिक में ।

0 टिप्पणियाँ

कृपया टिप्पणी दें

लेखक की अन्य कृतियाँ

बाल साहित्य कविता
किशोर साहित्य कहानी
किशोर साहित्य कविता
बाल साहित्य नाटक
बाल साहित्य कहानी
कविता
लघुकथा
आप-बीती
विडियो
ऑडियो

विशेषांक में