आत्मावलोकन

15-03-2020

आत्मावलोकन

अनीता श्रीवास्तव

(महिला दिवस विशेष एक रचना)


ख़ूब लिखा जाता हैआजकल 
महिलाओं के नाम पर
दिवस जयंती और पखवाड़े
महिलाओं के नाम पर
सड़कों पर नारे लगवाए
महिलाओं के नाम पर
बच्चों से निबन्ध लिखवाए
महिलाओं के नाम पर
कवियों ने कविता रच डाली
 महिलाओं के नाम पर
महिलाएँ ख़ुद बोल रहीं हैं
महिलाओं के नाम पर
पूजी जाती भारत माता
महिलाओं के नाम पर
चीख रही है मगर निर्भया
महिलाओं के नाम पर
कितने अभी शेष आडम्बर
महिलाओं के नाम पर

0 टिप्पणियाँ

कृपया टिप्पणी दें