तुम्हारी याद 

01-11-2019

तुम्हारी याद 

आदित्य तोमर ’ए डी’

तुम्हारी याद सारी रैन हमें सोने नहीं देती
यहाँ रस्ते हज़ारों हैं मगर खोने नहीं देती।
तेरी मुस्कान का जादू अलग ही है मेरी जानां
ये हमारी ही आँखों को हमें भिगोने नहीं देती॥

1 Comments

Leave a Comment