मैं शहद के बारे में सोचता हूँ

 

और एक मधुमक्खी 
हज़ारों फूलों का चक्कर लगाकर
लौट आती है अपने घर

 

मैं मधुमक्खी के बारे में सोचता हूँ
और हज़ारों फूल सपने बुनने लगते हैं
शहद बनने के लिये

0 Comments

Leave a Comment