उस 
खिलते हुए 
गुलाब को देख कर
सुंदरता का राज़ पता चला।
सुंदर 
कोई नहीं होता 
और सभी होते हैं।
सुंदर तो
समय  होता है
आज हमारा 
तो 
कल किसी और का।
मुरझाते हुए
गुलाब को 
कोई याद नहीं रखेगा
एक 
नई 
कली आकार ले रही 
है।

0 Comments

Leave a Comment