समाचार: कैनेडा समाचार

29 Jun 2019
परमजीत दियोल के काव्य-संग्रह "हवा में लिखी इबारत" का लोकार्पण

परमजीत दियोल के काव्य-संग्रह "हवा में लिखी इबारत" का लोकार्पण

हिन्दी राइटर्स गिल्ड की जून गोष्ठी आठ जून को स्प्रिंगडेल लाइब्रेरी के कमरे में यथासमय १:३० बजे बहुत धूमधाम से प्रारंभ हुआ। इस गोष्ठी का मुख्य कार्यक्रम पंजाबी की चर्चित कवयित्री श्रीमती परमजीत दियोल की पंजाबी की चुनी हुई कविताओं के हिन्दी अनुवाद की पुस्तक "हवा में लिखी इबारत" का लोकार्पण था। हिन्दी राइटर्स गिल्ड के लिए यह नई बात नहीं कि वह दूसरी भाषाओं से हिन्दी में अनूदित पुस्तकों के लोकार्पण का आयोजन करे। इससे पहले भी उर्दू, अंग्रेज़ी और पंजाबी से हिन्दी में अनूदित पुस्तकों पर विशेष कार्यक्रम आयोजित करके इन पुस्तकों पर विशेष बातचीत की गई है। भाषाओं के आपसी सम्मिलन के इसी महोत्सव की एक कड़ी थी यह संग्रह! इस संग्रह पर बातचीत करने के लिए हिन्दी और पंजाबी के कई विद्वान इस अवसर पर उपस्थित थे। कुछ विद्वान भारत से भी आये हुए थे।

कार्यक्रम का प्रारंभ चाय और जलपान से हुआ जिसका… आगे पढ़ें

05 Jun 2019
जल है तो कल है - हिन्दी राइटर्स गिल्ड की मई मासिक गोष्ठी

जल है तो कल है - हिन्दी राइटर्स गिल्ड की मई मासिक गोष्ठी

मई 11, 2019 को ब्रैम्पटन लाइब्रेरी की स्प्रिंगडेल शाखा में हिन्दी राइटर्स गिल्ड की मासिक गोष्ठी का आयोजन सफलतापूर्वक सम्पन्न हुआ। यह गोष्ठी विशेष थी क्योंकि पहले सत्र की विशेष अतिथि वक्ता डॉ. रोमिला वर्मा थीं जो यूनिवर्सिटी ऑफ़ टोरोंटो में प्राध्यापक एवं वैज्ञानिक (हाइड्रॉलोजिस्ट) हैं। वह अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ताज़े पानी के गिरते स्तर और अभाव के प्रति लोगों में जागरूकता लाने के लिए अनेक स्तरों पर प्रयत्नशील हैं।

कार्यक्रम का आरम्भ डॉ. शैलजा सक्सेना ने अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि माँ समान प्रकृति का देय अतुलनीय है और प्राकृतिक सम्पदा के दुरुपयोग के प्रति हमें सचेत रहा चाहिए। उन्होंने अगले दिन आने वाले मदर्स डे की अग्रिम बधाई भी सभी माताओं को दी। डॉ. शैलजा सक्सेना ने डॉ. रोमिला वर्मा का परिचय देते हुए उन्हें आमंत्रित किया कि वह विशेष प्रस्तुति उपस्थित जनों के समक्ष दें।

अपनी प्रस्तुति को आरम्भ करने से पहले… आगे पढ़ें

17 Apr 2019
राम तुम्हारा वृत्त स्वयं ही काव्य है…

राम तुम्हारा वृत्त स्वयं ही काव्य है…

हिन्दी राइटर्स गिल्ड की अप्रैल, 2019 मासिक गोष्ठी

 

’हिन्दी साहित्य में राम के विभिन्न रूप’ विषय पर इस शनिवार, 13 अप्रैल 2019 को हिन्दी राइटर्स गिल्ड ने अपनी मासिक गोष्ठी में एक विशेष कार्यक्रम आयोजित किया। रामनवमी के पावन अवसर पर हुई इस चर्चा में भाग लेने के लिए लगभग 40 लोग इस कार्यक्रम में उपस्थित थे। (हिन्दी राइटर्स गिल्ड की मासिक गोष्ठियाँ महीने के दूसरे शनिवार को 1:30 से 4:30 बजे तक स्प्रिंगडेल शाखा, ब्रैम्पटन में आयोजित होती हैं)

 कार्यक्रम का संचालन डॉ. शैलजा सक्सेना ने सँभाला और सभी उपस्थित लेखकों तथा श्रोताओं का स्वागत किया। उन्होंने रामनवमी तथा वैसाखी के पावन पर्वों की शुभकामनाएँ देते हुए भारत से पधारे वरिष्ठ साहित्यकार श्री रामेश्वर काम्बोज ’हिमांशु’ जी तथा गिल्ड से जुड़े नए हिन्दी प्रेमियों के प्रति विशेष आभार प्रकट किया। कार्यक्रम की रूपरेखा स्पष्ट करते हुए उन्होंने बताया कि आज… आगे पढ़ें

30 Mar 2019
’केसरिया फागुन’: हिन्दी राइटर्स गिल्ड की पुलवामा शहीदों को रचनात्मक श्रद्धांजलि

’केसरिया फागुन’: हिन्दी राइटर्स गिल्ड की पुलवामा शहीदों को रचनात्मक श्रद्धांजलि

हिन्दी राइटर्स गिल्ड ने ९ मार्च २०१९ को ब्रैमप्टन की स्प्रिंगडेल शाखा लाइब्रेरी में दोपहर १.३० से ४.३० बजे एक विशिष्ट कार्यक्रम ’केसरिया फागुन’ आयोजित करके पुलवामा के शहीदों को रचनात्मक श्रद्धांजलि दी। 

भीषण शीत और हवा के बाद भी लगभग चालीस लोगों के बीच यह विशिष्ट कार्यक्रम समय पर आरंभ हुआ। इस कार्यक्रम का संचालन डॉ. श्रीमती शैलजा सक्सेना ने किया। उन्होंने शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुए सभी श्रीताओं से १ मिनट का मौन रखने का आग्रह किया। भारत में उत्पन्न कठिन स्थिति पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि यहाँ प्रश्न युद्ध का नहीं बल्कि आतंक को समाप्त करने का है क्योंकि हमारे वीर लड़ते हुए शहीद नहीं हुए अपितु षड़यंत्र का शिकार होकर शहीद हुए हैं। ऐसे वातावरण में बात युद्ध और शांति की नहीं, आतंक समाप्त करने की होनी चाहिये और इस कार्य में लेखक अपने सामाजिक दायित्त्व को समझते हुए महती भूमिका निभा… आगे पढ़ें

22 Feb 2019
हिम की चादर पे खेले बसंत राज
हिन्दी राइटर्स गिल्ड की फरवरी, २०१९ मासिक गोष्ठी

हिम की चादर पे खेले बसंत राज

फरवरी 09, 2019 - कैनेडा की जानी-मानी और बहुआयामी संस्था हिंदी राइटर्स गिल्ड की मासिक गोष्ठी ०९ फ़रवरी २०१९ को स्प्रिंगडेल लायब्ररी, ब्रैम्पटन में दोपहर १.३० बजे प्रारंभ हुई। “हिम की चादर पे खेले बसंत राज” को चरितार्थ करता बर्फ़ीला मौसम था फिर भी कवियों और श्रोताओं ने बड़ी संख्या में आकर हिंदी के प्रति प्रेम का परिचय दिया। बसंत पंचमी के शुभ अवसर पर सभी ने एक दूसरे को बसंत ऋतु के आगमन पर बधाई दी। हिंदी राइटर्स गिल्ड द्वारा आयोजित समोसे, बर्फ़ी, गर्म चाय और श्रीमती सविता अग्रवाल द्वारा परोसे गए, बसन्ती मीठे चावलों का सभी ने भरपूर आनंद उठाया।

कार्यक्रम की संचालिका श्रीमती आशा बर्मन ने अपना कार्यभार संभालते हुए सभी का स्वागत किया और हिंदी साहित्य जगत के चारों काल वीर गाथा काल, भक्ति काल, रीति काल और आधुनिक काल के बारे में संक्षिप्त परिचय देते हुए, भक्ति… आगे पढ़ें