प्रीत भरा यह मास निराला

15-12-2019

प्रीत भरा यह मास निराला

ज्योत्स्ना 'प्रदीप'

छंद - दोधक


(यह 11 वर्ण का छन्द है। तीन भगण (211+211+211)और दो गुरु 2+2होते हैं)

 

प्रीत भरा यह मास निराला।
माधव झूम रहा मतवाला॥
रंग सजे बिखरे हर डाली।
गीत नए बुनती हरियाली॥

0 Comments

Leave a Comment