हत्या का रहस्य

01-04-2021

हत्या का रहस्य

प्रवीण शर्मा

खुल जाएगा 
हत्या का रहस्य 
सोकर उठने से पहले
निर्मल शीतल जल से 
मिटा देंगी कविताएँ स्वयं
पराजय के सारे अवशेष 
अपमानित चेहरों पर 
चमकेगी 
स्वाभिमान की धूप 
सोकर उठने से पहले 
शांत हो जाएगा 
कोलाहल 
सोकर उठने के बाद 
मेरे साथ होगी-
पिघली हुई बर्फ़ 
निकली हुई धूप 
निरभ्र आकाश में 
पक्षियों की उन्मुक्त उड़ान—
सोकर उठने के बाद 

0 टिप्पणियाँ

कृपया टिप्पणी दें