श्राद्ध

15-03-2021

श्राद्ध

भगवान अटलानी

“इस बार आपके पिताजी को छोड़कर मैं किसी का श्राद्ध नहीं करूँगी,” पत्नी ने घोषणा की।

हतप्रभ पति ने पूछा, “क्यों?”

“आपके पिताजी को मैंने देखा है। जिनको देखा ही नहीं, उनका श्राद्ध नहीं करूँगी।”

पति सोच रहे थे, बेटे की शादी होने से पहले अगर मेरी मृत्यु हो गई तो ऐसी ही घोषणा उसकी वधू कर सकती है। 

अगले दिन उन्होंने अपनी वसीयत पंजीकृत कराई, “मेरी मृत्यु के बाद श्राद्ध न कराया जाये।”

0 टिप्पणियाँ

कृपया टिप्पणी दें