प्रेमचंद आज के परिप्रेक्ष्य में

15-11-2020

प्रेमचंद आज के परिप्रेक्ष्य में

चंचला प्रियदर्शिनी 

मानसरोवर की धरती पर
  गोदान को गबन किया
नमक के दरोगा ने।
 
बड़े घर की बेटी चली
   कफ़न ओढ़े, सेवासदन को
जो थी, आत्माराम की रंगभूमि।
 
दो बैलों की कथा को 
  पंच परमेश्वर ने ऐसे सुलझाया –
गुल्ली डंडा के खेल में 
जो जीते, वो हैं –
 शतरंज के खिलाड़ी।

0 टिप्पणियाँ

कृपया टिप्पणी दें