लाशों की भीड़ में
खड़ी
माँ भारती रो रही

 

चिता जलाऊँ किस के लिए
बनाऊँ कब्र किसकी
    मानव मानवता
         धर्म धार्मिकता
             देश देशभक्ति
                है कौन यहाँ
                    हुई हो न मौत जिसकी

0 Comments

Leave a Comment