मौसम अलबेला

01-02-2020

मौसम अलबेला

डॉ. शिप्रा वर्मा

मौसम अलबेला जब आए
चल बगिया में जामुन खाएँ

 

कोटरों से निकलो पंछी तुम
हवा सुहानी - घूम के आएँ

 

वो बादल भी निकला घर से
रिमझिम वर्षा  - भीगा जाए

 

ख़ुश तो आज बहुत है मौसम
ठंडी - ठंडी  हवा इतराए 

 

यह मौसम और संग हो तेरा
क्यों न चले हम भी बल खाएँ

 

कुछ कहना है तुझसे मौसम
वही जो अब तक कह न पाए

 

साँस – साँस में घुल जा मौसम
जीवन भर फिर बिछड़ न पाए

 

रंग सुनहरे मौसम से ले
जीवन को रंगीन बनाएँ!!

0 Comments

Leave a Comment