स्नेह दत्त

स्नेह दत्त

स्नेह दत्त

शिक्षा: जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी ,दिल्ली से सोशल वर्क में पोस्ट ग्रैजुएट हूँ (1982)। 
लेखन:
लिखने का रुझान कॉलेज के दिनों  से ही रहा है पर अपनी कवितायें  साझा करने का निर्णय  2018 में  रिटायर होने के बाद  लिया। मेरी कवितायें  ज़िंदगी के  अनेक पहलुओं प्यार, रिश्ते-नाते,आत्मसम्मान, अस्तित्व, समाज में रची बसी विडंबनाओं से जुड़े  अहसासों को लफ़्ज़ों  में पिरोने की कोशिश भर हैं। 
प्रकाशन:

  • अभी हाल में  मेरी कविताओं की एक किताब  "दस्तक "पब्लिश हुई है।

  • साझा सफ़र -सहयोगात्मक/सामूहिक कविताओं के संकलन की सह लेखक

प्रकाशित होने वाली पुस्तकें:

  • जीवन चक्र - Anthology  की सह लेखक

  • सरगोशियाँ लफ़्ज़ों -मेरी कविताओं का संकलन

अन्य गतिविधियाँ:

  • दिल्ली सरकार के विभिन्न विभागों में ज़िम्मेदार ओहदों  पर कार्यरत रही हूँ। 

  • कई अंतरराष्ट्रीय  संस्थानों के समाजिक विकास से संबंधित  विभिन्न प्रोजेक्ट्स में काम करने का अवसर भी मिला।

  • समाज में हाशिये पर रह गये लोगों के लिए काम करने का 32 साल अनुभव बटोर पाई।

सम्प्रति: Action for Community (ACT) और Personal Social Responsibility(PSR) Trustकी Founder member  होने के साथ साथ, कई ग़ैरसरकारी संस्थाओं (NGOs) से जुड़ कर समाज में सकारात्मक बदलाव लाने में अभी भी प्रयासरत हूँ।
इसके अलावा Counselling भी एक गतिविधि रही है।
 

लेखक की कृतियाँ

नज़्म
कविता
विडियो
ऑडियो

विशेषांक में