महका गेंदा

06-02-2015

महका गेंदा,
गदराई सरसों,
आया बसंत।
बाँधे पीली पगड़ी,
होके हवा-सवार॥

0 टिप्पणियाँ

कृपया टिप्पणी दें