ऐसा देश है मेरा

01-02-2020

ऐसा देश है मेरा

अभिराज देवरे

चाणक्य के तक़दीर में था राजयोग
फिर भी माँ के लिए उसने त्याग दिया
एक छोटे बच्चे चंदू को 
भारत का राजा बना दिया
जिसने कहा देश का स्वार्थ ही स्वार्थ है मेरा 
बहनों ऐसा देश है मेरा


जहाँ भारत था शासन काल में 
अँग्रेज़ों का था वो अभिमान
भगतसिंह ने बदला लेकर 
गिरा दिया उसका स्वाभिमान
“भारत माँ रहूँगा मैं तेरा”
ऐसा प्यारा देश है मेरा


कहते थे जिसको नीचे कुल का
वो नहीं था उनके जैसा
आंबेडकर जैसा दुनिया में
नहीं था कोई वैसा
समानता को मिला एक नया हीरा
दोस्तो ऐसा दोस्त है मेरा


‘म्हारा मेवाड़ी सरदार’ करके 
महाराणा मेवाड़ को बचाता था
तुझमें में भी थी कुछ बात 
जो तू अकबर को डराता था

 

जहाँ आदिल शाह राजा था
जिसका बहुत बड़ा था राज
वहीं शिवाजी महाराज ने 
बनाया हिन्दवी का स्वराज
मराठाओं को मिला राजा का सेहरा
दोस्तो ऐसा देश है मेरा

 

जहाँ श्री प्रभुपदा जन्मे
जिनका जीवन काल संन्यास में बीता
वहीं फिरंगियों की मदद से 
फैलाई श्रीमद्भगवद गीता
इसकॉन को पूरे विश्व में मिला नया चेहरा
बंधुओं ऐसा देश है मेरा 
 

0 टिप्पणियाँ

कृपया टिप्पणी दें