अन्तरजाल पर आपकी मासिक पत्रिका

अन्तरजाल पर साहित्य-प्रेमियों की विश्राम-स्थली
वर्ष: 10, अंक 91,  अगस्त प्रथम अंक, 2014
ISSN 2292-9754

लेखक या सम्पादक की लिखित अनुमति के बिना पूर्ण या आंशिक रचनाओं का पुर्नप्रकाशन वर्जित है। लेखक के विचारों के साथ सम्पादक का सहमत या असहमत होना आवश्यक नहीं।  सर्वाधिकार सुरक्षित। साहित्य कुंज में प्रकाशित रचनाओं में विचार लेखक के अपने हैं और साहित्य कुंज टीम का उनसे सहमत होना अनिवार्य नहीं है।
सम्पादक:- सुमन कुमार घई; साहित्यिक परामर्श:- डॉ. शैलजा सक्सेना; सहायता - विजय विक्रान्त; संरक्षक - महाकवि प्रो. हरिशंकर आदेश

कविता   कहानी   लघु-कथा   लोक-कथा   आपबीती   आलेख    हास्य-व्यंग्य    महाकाव्य   अनूदित-साहित्य   लेखक   संकलन
ई-पुस्तकालय   साहित्यिक-चर्चा   शोध निबन्ध    साहित्यिक-समाचार    शायरी   शायर   बाल साहित्य   हिन्दी ब्लॉग
पुस्तक समीक्षा / पुस्तक चर्चा     हिन्दी डाउनलोड करें     IF YOU HAVE PROBLEM READING HINDI
इस अंक में      पिछला अंक    पिछला माह

इस अंक में —

कहानियाँ
कविताएँ
शायरी
हास्य-व्यंग्य
ललित निबन्ध
बाल साहित्य

लघु कथा
निबन्ध/ आलेख
पुस्तक चर्चा / साहित्य चर्चा/
पुस्तक समीक्षा

ई-पुस्तकालय
यात्रा संस्मरण

संकलन
सूचना
अनूदित साहित्य
साहित्यिक समाचार
महाकाव्य
साहित्य संगम

इस अंक में कहानियाँ -
फिर एक बार.....
रिशी कटियार
समझौता
डॉ. ज़ेबा रशीद
जीवन साथी
प्रतिष्ठा शर्मा
हास्य - व्यंग्य - बाल साहित्य - लघु कथा -
टिप्पणी पर टिप्पणी!
अशोक परुथी "मतवाला"
धरती सजी रहे . - डॉ. प्रतिभा सक्सेना
नदी ताल भर जाने दो - प्रभुदयाल श्रीवास्तव
देश-प्रेम - नीति दवे
नया झुकाव - प्राण शर्मा
पड़ोसी धर्म - रमेश ‘आचार्य’
सवाल, जन्म दिवस, अप्रत्याशित - सुभाष चन्द्र
आलेख - शोध निबन्ध -  शोध निबन्ध -  

प्रकृति, लोक और समकाल के बिंबों के कवि : केदारनाथ सिंह
डॉ. गुर्रमकोंडा नीरजा

अमृता प्रीतम के उपन्यास ‘पिंजर’ में पारिस्थितिक स्त्रीवाद
मनमीत कौर

मैत्रेयी पुष्पा के उपन्यासों में संघर्ष और द्वंद्व
डॉ. राजकुमारी शर्मा
साहित्यिक निबन्ध - साहित्य और सिनेमा - ललित निबन्

 "निराला की साहित्य साधना" और डॉ. रामविलास शर्मा
डॉ. एम वेंकटेश्वर

'गॉन विथ द विद' - एक कालजयी उपन्यास और सिनेमा
डॉ. एम वेंकटेश्वर

सामण मइनो आयो राज
(मालवा के विशेष संदर्भ में)
डॉ. श्रवण कुमार सोलंकी ‘सावन’
कविताएँ - शायरी -
मृत्यु - बलजीत सिंह
झूमती बदली, सावन बहका है
जाने कैसी राह, पुलोवर - मनीषा साधू
पदचिह्न - भारती पंडित
जीवन - रणवीर पाहवा "राजा"
प्रिय के प्रति - उषा बंसल
संगम, मैं बुझे चाँद सा, प्यार, नाभिकुंड, गोबर की छाप - डॉ. ऋषभदेव शर्मा
चाँदनी रात में कभी-कभी... - विकास वर्मा
पूरे चाँद की रात, मोहब्बत, अलविदा - विजय कुमार सप्पत्ति
दुनिया, बात नदी से - सीमा ‘असीम’ सक्सेना
सिंहासन सो रहा है - डॉ. अमिता शर्मा
विडम्बना, 'जो काल्पनिक कहानी नहीं है' की कथा, बौड़म दास - सुशांत सुप्रिय
राष्ट्र हित में, कर्ज़ - मीना ए. शर्मा
१४ हाइकू - डॉ. शैलजा सक्सेना
काश तुम फिर आती - ऋतुध्वज सिंह
विकल्प, चुप, अनलिखी नज़्में - प्रियंका सिंह
यतीम, फ़रेब नज़र का, ख़ाक, बोसा या पान - डॉ. मुफज़्ज़ल ज़ुल्फेक़ार
शहर में कुछ गाँव होते, एक दिल सीने में, हर तरफ़ है छिड़ी समय को.. - राघवेन्द्र पाण्डेय ‘राघव’
वो ही चला मिटाने नामो-निशां हमारा -  देवी नागरानी
तेरी हर बात पर हम ...,, उजालों के ना जब तक आये पैग़ाम, उमर के साथ साथ किरदार, बिखर रहा हूँ मेरे दोस्त - दीपक शर्मा
क्या लिखूँ .... - शालिनी श्रीवास्तव "शानू"
पुस्तक समीक्षा -  पुस्तक चर्चा - पुस्तक चर्चा

अवाम की आवाज़
प्रदीप श्रीवास्तव

स्वर्ण आभा गुजरात –एक अदभुत भागीरथ कार्य 
देवी नागरानी

राग-विराग में नारी चित्रण
डॉ. मोनिका सिंह
यात्रा संस्मरण - संस्मरण-  संकलन -
Kailash
कैलाश-मानसरोवर यात्रा - प्रेमलता पांडे
14/6/2010 ग्यारहवां दिन
15/6/2010 बारहवां दिन
कन्या-भ्रूण हत्या से संबंधित संस्मरण शृंखला 
हादसा - ३
गुनहगार हूँ या नहीं
कविता गुप्ता
इस अंक में
जी हाँ, लिख रहा हूँ - प्रेषक : उषा बंसल
महादेवी वर्मा
डॉ. हरिवंश राय बच्चन
आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी
त्रिलोचन शास्त्री
नागार्जुन
ई - पुस्तकालय - (इस स्तम्भ के अन्तर्गत पुस्तकों का प्रकाशन धारावाहिक रूप में होगा)

अंतपुर की व्यथा कथा
अनिल कुमार पुरोहित
इस अंक में 01 दृश्य

नया सवेरा
स्मिता / अमरेन्द्र
इस अंक में 31 - 40

शकुन्तला
इस अंक में चतुर्थ सर्ग - प्रमोद ६ महाकवि प्रो. हरिशंकर आदेश
(अगले अंक से)

चित्रकार - रवि वर्मा
साकेत
महाकवि मैथिली शरण गुप्त

 
साहित्यिक समाचार -

प्रो. दिलीप सिंह की पुस्तक ‘कविता पाठ विमर्श’ लोकार्पित
डॉ. गुर्रमकोंडा नीरजा

ढींगरा फ़ैमिली फ़ाउंडेशन-हिन्दी चेतना अंतर्राष्ट्रीय सम्मान समारोह
सुमन कुमार घई

डॉ. रमा पांडे के काव्य संग्रह, गुहार, का वातायन द्वारा विमोचन
दिव्या माथुर
सूचना - साहित्य संगम -
साहित्य कुंज के नए अंकों की सूचना पाने के लिए अपना ई-मेल पता भेजें

Powered by us.groups.yahoo.com

हिन्दी राइटर्स गिल्ड
 अनुभूति-अभिव्यक्ति  
 काव्यालय
 वागर्थ (भारतीय भाषा परिषद.Com)
 हंस
 साहित्य सरिता
हिन्दी नेस्ट
सृजनगाथा
कृत्या
लघुकथा
साहित्य सेतु
हिन्दी ब्लॉग
अपनी रचनाएँ भेजें:-
कृपया अपनी रचनाएँ निम्नलिखित ई-मेल पर भेजें
sahityakunj@gmail.com
अथवा डाक द्वारा भेजें:-
Sahitya Kunj,
87, Scarboro Ave.
Scarborough, Ont M1C 1M5
Canada



अन्तरजाल पर आपकी मासिक पत्रिका

अन्तरजाल पर साहित्य-प्रेमियों की विश्राम-स्थली
वर्ष: 9, अंक 90,   जुलाई 15, 2014
ISSN 2292-9754

लेखक या सम्पादक की लिखित अनुमति के बिना पूर्ण या आंशिक रचनाओं का पुर्नप्रकाशन वर्जित है। लेखक के विचारों के साथ सम्पादक का सहमत या असहमत होना आवश्यक नहीं।  सर्वाधिकार सुरक्षित
सम्पादक:- सुमन कुमार घई; साहित्यिक परामर्श:- डॉ. शैलजा सक्सेना; सहायता - विजय विक्रान्त; संरक्षक - महाकवि प्रो. हरिशंकर आदेश

कविता   कहानी   लघु-कथा   लोक-कथा   आपबीती   आलेख    हास्य-व्यंग्य    महाकाव्य   अनूदित-साहित्य   लेखक   संकलन
ई-पुस्तकालय   साहित्यिक-चर्चा   शोध निबन्ध    साहित्यिक-समाचार    शायरी   शायर   बाल साहित्य   हिन्दी ब्लॉग
पुस्तक समीक्षा / पुस्तक चर्चा     हिन्दी डाउनलोड करें     IF YOU HAVE PROBLEM READING HINDI
इस अंक में      पिछला अंक    पिछला माह

इस अंक में —

कहानियाँ
कविताएँ
शायरी
हास्य-व्यंग्य
ललित निबन्ध
बाल साहित्य

लघु कथा
निबन्ध/ आलेख
पुस्तक चर्चा / साहित्य चर्चा/
पुस्तक समीक्षा

ई-पुस्तकालय
यात्रा संस्मरण

संकलन
सूचना
अनूदित साहित्य
साहित्यिक समाचार
महाकाव्य
साहित्य संगम

कहानियाँ -
न्याय-अन्याय
मानोशी चटर्जी
सच से मुठभेड़
विनीता शुक्ला
कुंभ का वनवास
मुरारी गुप्ता
हास्य - व्यंग्य - बाल साहित्य - लघु कथा -
ट्यूशन शरणम् गच्छामि
रमेश ‘आचार्य’
समस्या का समाधान, फिर मिलेंगे!, हवालात - अशोक परुथी "मतवाला"
बरसाती घोड़े, पहाड़ा, दो का पहाड़ा -
देवेश चंद्र मिश्र
चितेरा कथाकार, सौदागर - रमेश ‘आचार्य’
अगला जन्म - भारती पंडित
अपनी-अपनी सोच - निशा भोसले
बिजली चमकने का रहस्य? - अशोक परुथी "मतवाला"
आलेख - शोध निबन्ध -  संस्मरण-

सांप्रदायिकता से जूझते अफ़सानानिगार मंटो
अरुण प्रसाद रजक
डॉ. रामविलास शर्मा की दृष्टि में सुब्रह्मण्य भारती का जीवन और साहित्यकर्म
बिजय कुमार रबिदास
उपेन्द्र नाथ अश्क के नाटकों में नारी चेतना
(‘कैद’ और ‘उड़ान’ के विशेष सन्दर्भ में
विकास वर्मा
कन्या-भ्रूण हत्या से ्संबंधित संस्मरण शृंखला
हादसा - 2
अध्जन्मी कंजक का श्राप
साहित्यिक निबन्ध - साहित्य और सिनेमा - अनूदित साहित्य -

'मुड़-मुड़के देखता हूँ'... और राजेन्द्र यादव
डॉ एम वेंकटेश्वर

भारतीय सिनेमा को तेलुगु फिल्मों का प्रदेय
डॉ एम वेंकटेश्वर
(अनूदित लातिनी अमेरिकी कहानी)
महान लातिनी अमेरिकी साहित्यकार गैब्रिएल गार्सिया मार्खे़ज़ को श्रद्धांजलि।
विशाल पंखों वाला बहुत बूढ़ा आदमी
मूल लेखक : गैब्रिएल गार्सिया मार्खे़ज़
अनुवाद : सुशांत सुप्रिय
कविताएँ - शायरी -
मैं वर्जनाएँ तोड़ना चाहती हूँ - भारती पंडित
कल, आज और कलरचना श्रीवास्तव
धीर धरो मन, ट्यूलिप - कृष्णा वर्मा
सवाल - गौरव पीलू
कितने सच्च मुट्ठी में - महेश रौतेला
कैसे बदलेगी यह फ़ितरत ? - मंजु महिमा भटनागर
तुम - मनीषा साधू
कविता - शालिनी श्रीवास्तव "शानू"
12 क्षणिकाएँ - डॉ. सुधा गुप्ता
ये ज़रूरी था शायद, खुशियाँ याद नहीं रहती - सुनील कुमार लोहमरोड़ ’सोनू’
दरवाज़ा, मंगलसूत्र, तस्वीर, एहसास, धोखा - शबनम शर्मा
हे पार्थ!, वो, कुबड़ी आधुनिकता, दमित इच्छा, कीमत - दीप्ति शर्मा
काश - अलका प्रमोद
जीवन..... कल और आज - डॉ. मीनू नन्दा
बंद जबसे कारखाने हो गए, हर सफ़र में सफ़र की बातें हैं, पंछियों के उग गए पर आजकल, आदमी को शहर, आप कहते रहें - डॉ. राकेश जोशी
यूँ जब-जब शबनम रोती है - ’गुमनाम’ पिथौरागढ़ी
पुस्तक समीक्षा -  पुस्तक समी्क्षा - पुस्तक चर्चा

प्रतिबद्धताओं से मुक्त कहानियों का स्पेस
प्रदीप श्रीवास्तव

आत्मस्वीकृति
एक सामान्य व्यक्ति के असामान्य बनने

की रोचक गाथा
डॉ. सुरेश कांत
यात्रा संस्मरण -   संकलन -
Kailash
कैलाश-मानसरोवर यात्रा - प्रेमलता पांडे
12/6/2010 नवाँ दिन
13/6/2010 दसवाँ दिन
  इस अंक में :
अकाल और उसके बाद (नागार्जुन)
प्रेषक : उषा बंसल
महादेवी वर्मा
डॉ. हरिवंश राय बच्चन
आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी
त्रिलोचन शास्त्री
नागार्जुन
ई - पुस्तकालय - (इस स्तम्भ के अन्तर्गत पुस्तकों का प्रकाशन धारावाहिक रूप में होगा)
खण्ड खण्ड अग्नि - दिविक रमेश
खण्ड-खण्ड अग्नि
दिविक रमेश
इस अंक में दृश्य 5 और इति

नया सवेरा
स्मिता / अमरेन्द्र
इस अंक में 21 - 30

शकुन्तला
इस अंक में चतुर्थ सर्ग - प्रमोद ६ महाकवि प्रो. हरिशंकर आदेश
(अगले अंक से)

चित्रकार - रवि वर्मा
साकेत
महाकवि मैथिली शरण गुप्त

 
साहित्यिक समाचार -


गोइन्का साहित्य पुरस्कारों की घोषणा

समस्या का समाधान करना लेखक का
 काम नहीं
हरेराम वाजपेयी

व्यंग्य संग्रह ’घोटालेबाज न होने का गम’
 का विमोचन संपन्न

प्रेषक : दुष्यंत कुमार

कवयित्री रेनू सिरोया "कुमुदिनी" सम्मानित

हिन्दी राइटर्स गिल्ड में समीक्षा पर चर्चा
सुमन कुमार घई 
सूचना - साहित्य संगम -
साहित्य कुंज के नए अंकों की सूचना पाने के लिए अपना ई-मेल पता भेजें

Powered by us.groups.yahoo.com

हिन्दी राइटर्स गिल्ड
 अनुभूति-अभिव्यक्ति  
 काव्यालय
 वागर्थ (भारतीय भाषा परिषद.Com)
 हंस
 साहित्य सरिता
हिन्दी नेस्ट
सृजनगाथा
कृत्या
लघुकथा
साहित्य सेतु
हिन्दी ब्लॉग
अपनी रचनाएँ भेजें:-
कृपया अपनी रचनाएँ निम्नलिखित ई-मेल पर भेजें
sahityakunj@gmail.com
अथवा डाक द्वारा भेजें:-
Sahitya Kunj,
87, Scarboro Ave.
Scarborough, Ont M1C 1M5
Canada