विज्ञानकु: शोध हमारे

15-09-2021

विज्ञानकु: शोध हमारे

सुभाष चन्द्र लखेड़ा

शोध के नाम
याद रहे करेंगे
ढंग के काम।
 
नहीं नक़ल
शोध में करने हैं
काम असल।
 
जो कुछ करो
अपना सारा शोध
निष्ठा से करो।
 
लोकोपयोगी
हों हमारे प्रयास
शोध हों ख़ास।
 
फले विज्ञान
वैज्ञानिकों को मिले
जहाँ सम्मान।

0 टिप्पणियाँ

कृपया टिप्पणी दें

लेखक की अन्य कृतियाँ

कविता - हाइकु
लघुकथा
आप-बीती
सांस्कृतिक कथा
स्मृति लेख
विडियो
ऑडियो

विशेषांक में