सुविधामंडल

15-05-2020

सुविधामंडल

राजनन्दन सिंह

सुविधामंडल में मत फँसो
दुविधा तुम्हें हो जाएगी
कैलकुलेटर की आदत
गणना गणित भुलवाएगी
डेढ़ा सवैया पौना आधा
बारहमासा भूल गए
मशीन पर निर्भर होकर
अपनी मीमांसा भूल गए
जगह-जगह पर जाल बिछा है
दाना डाल तुम्हें लुभाएगी


ध्यान रखो अपनी मंज़िल पर
भले ही दाना खाना हो
अपनी सोच-समझ से जाओ
जहाँ कहीं भी जाना हो
फँस भी गये किसी झाँसे में
कल मेधा तो न पछताएगी


सुविधामंडल में मत फँसो
दुविधा तुम्हें हो जाएगी

0 टिप्पणियाँ

कृपया टिप्पणी दें

लेखक की अन्य कृतियाँ

कविता
किशोर साहित्य कविता
बाल साहित्य कविता
हास्य-व्यंग्य कविता
नज़्म
विडियो
ऑडियो