शिक्षक सम्मान

15-09-2020

शिक्षक सम्मान

डॉ. सुशील कुमार शर्मा

"नहीं, तुम्हें शिक्षक सम्मान नहीं मिल सकता।"

"मगर क्यों?"

"तुम योग्य नहीं हो?"

"क्या योग्यता होनी चाहिए?"

"एक अच्छा शिक्षक..."

"लोग मुझे अच्छा शिक्षक ही मानते हैं।"

"वो कैसे?"

"मेरे पढ़ाये छात्र कलेक्टर हैं डॉक्टर हैं, आईआईटी में हैं मेरी 15 किताबें प्रकाशित हैं।"

"इससे कहाँ सिद्ध होता है कि तुम अच्छे शिक्षक हो?"

"फिर कैसे सिद्ध होगा?"

"विधायक के कृपा पात्र हो?"

"पता नहीं?"

"किसी मंत्री के पी ए के रिश्तेदार?"

"नहीं।"

"शिक्षा विभाग के मुख्य ऑफ़िस में घुसपैठ है?"

"नहीं।"

"सम्मान के लिए पैसा ख़र्च कर सकते हो?"

"नहीं पैसे देकर सम्मान ख़रीदा तो फिर सम्मान का क्या मतलब।"

"बस तो सरकारी सम्मान के सपने देखना छोड़ दो, जाकर स्कूल में पढ़ाओ।"

0 टिप्पणियाँ

कृपया टिप्पणी दें

लेखक की अन्य कृतियाँ

सामाजिक आलेख
लघुकथा
व्यक्ति चित्र
गीत-नवगीत
दोहे
कविता
साहित्यिक आलेख
सिनेमा और साहित्य
कहानी
बाल साहित्य कविता
कविता-मुक्तक
किशोर साहित्य नाटक
किशोर साहित्य कविता
ग़ज़ल
ललित निबन्ध
विडियो
ऑडियो

विशेषांक में