सफलता का राज़

30-11-2018

अपने विवाह की पचासवीं वर्षगाँठ को बड़े पैमाने पर मनाने वाले वृद्ध दम्पति से एक परिचित पत्रकार ने पूछा, "आप अपने विवाहित जीवन की सफलता का राज़ बताइए ताकि आज के युवक-युवतियाँ आपसे कुछ सीख सकें।"

पति ने पत्नी की तरफ़ देखते हुए कहा, "पहले पंद्रह वर्ष तो हम शारीरिक सुखों की वजह से एक-दूसरे को चाहते रहे। अगले बीस वर्ष हम दोनों अपने बच्चों को पालने-पोसने, उन्हें उच्च शिक्षा दिलाने और उनके घर बसाने में व्यस्त रहे। उसके बाद के दस वर्ष बच्चों के बच्चों को बड़ा करने में बीत गए।"इतना बताकर वे चुप हो गए।

उन्हें चुप होते देख पत्रकार ने पूछा, "और पिछले पाँच वर्ष?"

इस बार पति के बजाए पत्नी बोली, "बेटे, हमारे पास एक ही एयरकंडीशनर है। आपसी नोक-झोंक के बावजूद हम दोनों को एक ही कमरे में सोना पड़ता है।"

0 टिप्पणियाँ

कृपया टिप्पणी दें

लेखक की अन्य कृतियाँ

आप-बीती
सांस्कृतिक कथा
कविता - हाइकु
लघुकथा
स्मृति लेख
विडियो
ऑडियो

विशेषांक में