पूछ रही क्यों बिटिया रूठी

01-04-2019

पूछ रही क्यों बिटिया रूठी

प्रभुदयाल श्रीवास्तव

भूली और भटकती आई।
तितली कमरे में घुस आई।

पहले तो सोफ़े पर बैठी।
वहीं बैठकर टी.वी. देखी।

फ़िल्मी गाने सुने ध्यान से।
बाहर झटपट किये कान से।

उड़कर पहुँची बेड रूम में।
बिस्तर चादर लगी चूमने।

चित्र तितलियों के चादर पर,
बने हुए थे सुंदर - सुंदर।

एक चित्र में सुंदर तितली,
बैठी थी कुछ रूठी मचली।

तितली उसी चित्र पर बैठी।
पूछ रही क्यों बिटिया रूठी।

0 Comments

Leave a Comment

लेखक की अन्य कृतियाँ

बाल साहित्य कविता
बाल साहित्य नाटक
बाल साहित्य कहानी
कविता
लघुकथा
आप-बीती
विडियो
ऑडियो