आसमान में उड़ते बादल
घुमड़-घुमड़ जब करते शोर।
रंग –बिरंगे पंख खोलकर
खूब नाचता है तब मोर।
 

0 Comments

Leave a Comment

लेखक की अन्य कृतियाँ

लघुकथा
कविता
सामाजिक
हास्य-व्यंग्य कविता
पुस्तक समीक्षा
बाल साहित्य कहानी
बाल साहित्य कविता
कविता-मुक्तक
साहित्यिक
दोहे
कविता-माहिया
विडियो
ऑडियो