जय श्री राम

15-04-2020

जय श्री राम

आलोक कौशिक

त्याग का पर्याय 
प्रतीक शौर्य का 
पुरुषों में उत्तम 
संहर्त्ता क्रौर्य का 

 

परहित प्रियता 
भ्राताओं में ज्येष्ठ 
कर्तव्य परायण 
नृप सर्वश्रेष्ठ 

 

शरणागत वत्सल 
हैं आश्रयदाता 
दशरथ नंदन 
भाग्य विधाता 

 

भजे मुख मेरा 
तेरा ही नाम 
जय सिया राम 
जय श्री राम 

0 टिप्पणियाँ

कृपया टिप्पणी दें

लेखक की अन्य कृतियाँ

कविता
लघुकथा
कहानी
गीत-नवगीत
हास्य-व्यंग्य कविता
विडियो
ऑडियो