चिड़िया रानी

15-04-2020

फुदक-फुदक कर आई, 
चिड़िया रानी
वह थी दिखने में  
बड़ी सयानी


आकर उसने मेरे घर, 
शोर मचाया
मैंने उसको, 
खाना खिलाया


उसने मुझे एक कहानी सुनाई
कल मैं हो जाऊँगी पराई
तू क्यों रोता है मेरे भाई
चल सो जा ओढ़ के रजाई

0 टिप्पणियाँ

कृपया टिप्पणी दें