अवध में राम आए हैं

15-08-2020

अवध में राम आए हैं

अशोक योगी 'शास्त्री'

हर्षित है सारा ही संसार
अवध  में   राम  आए हैं
अवध   में  राम  आए हैं
मेरे     भगवान   आए हैं।

 

काटकर सदियों का वनवास 
पुन:   सियाराम  आए   हैं।

 

भरत  है  मिलने को आतुर
लखन संग हनुमान आए हैं।

 

छवि  है  मनमोहन  वाली
सभी  के हिय में समाए हैं।

 

सरयू  के  पावन  घाटों  ने
गीत   मंगल   के   गाए  हैं।

 

सजे हैं सारे घर और द्वार
देवों  ने  पुष्प  बरसाए  हैं।

 

आज  मंदिर के मुहूर्त पर 
मोदी  संग  नाथ  आए  हैं।

 

उमंग में  नाच  रहे नर नार
प्रजा  ने   दीप   जलाए  हैं।

0 टिप्पणियाँ

कृपया टिप्पणी दें