आवाज़ (पाराशर गौड़)

25-08-2007

आवाज़ (पाराशर गौड़)

पाराशर गौड़

सुनो..
मेरी आवाज़ को गौर से सुनो
अगर पौधा मर गया तो उसके साथ
बीज भी मर जायेगा
धरती बंजर हो जायेगी
किसान भी मर जायेगा-

 

अगर वो मरा तो...
उसके साथ समूचा देश भी मर जायेगा
फिर...
ना तो कोई सुननेवाला होगा
ना सुनाने वाला।

0 Comments

Leave a Comment