अन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली
ISSN 2292-9754

मुख पृष्ठ
12.31.2018


साहित्य कुञ्ज का नया स्वरूप
 सुमन कुमार घई

आपकी प्रिय वेबसाईट का नया रूप आप सभी को शीघ्र ही देखने को मिलेगा। इस समय इसकी तकनीकी लगभग चौदह वर्ष पुरानी है और क्योंकि इसे मैंने ही बनाया था, इसलिए इसमें कमियाँ भी प्रचुर मात्रा में थीं। नई वेबसाईट http://21gfox.ca/ द्वारा बनायी जा रही है। तकनीकी अत्याधुनिक है। वेबसाईट में मल्टीमीडिया का पूरा लाभ उठायेगी। सम्भावनाएँ बहुत हैं; अब देखना यह है कि इस वेबसाईट की क्षमताओं का पूरा लाभ उठाने के लिए मैं कितने समर्पित लोगों की टीम को जुटा पाता हूँ।

दूसरा विषय आर्थिक है। अभी तक साहित्य कुञ्ज को मैं अपनी जेब से ही चला रहा हूँ, जिसे कभी मैंने भार नहीं समझा। परन्तु मैं भविष्य का भी सोच रहा हूँ। एक दिन तो ऐसा आयेगा ही जब यह वेबसाईट मुझे सक्षम हाथों में सौंपनी होगी ताकि साहित्य कुञ्ज में संचित साहित्य सुरक्षित रहे। मैं नहीं चाहता कि साहित्य कुञ्ज का दायित्व सँभालने वाले को इसे चलाने के लिये आर्थिक भार भी वहन करना पड़े। साहित्य कुञ्ज की नयी वेबसाइट में गूगल के विज्ञापन लगाने का विचार है। इससे कितनी आय होगी, इसका कोई भी अनुमान नहीं है। क्योंकि साहित्य कुञ्ज अव्यवासायिक वेबसाईट रही है; अब क्या मैं ऐसा इसे कह सकूँगा? यह आय किस तरह से साहित्य के लिए उपयोगी होगी आदि की चिंतायें भी प्रश्न बन कर सामने खड़ी हो गयी हैं।


अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें