अन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली मुख्य पृष्ठ
05.31.2008
 

जीवन का खेल 
[अरधान से]
 
त्रिलोचन शास्त्री
चयन : डॉ. शैलजा सक्सेना


मेमने कुदकते हैं

जाड़े की धूप को जीवन के खेल से

आँक आँक देते हैं


अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें