अन्तरजाल पर साहित्य प्रेमियों की विश्राम स्थली
ISSN 2292-9754

मुख पृष्ठ
12.17.2018


बुद्धिजीवी

 मच्छर जैसा साधारण जीव,
जिसका कोई अस्तित्व नहीं होता
मानव को दुखित-व्यथित कर देता है

मच्छर ही क्यों, कोई भी सामान्य जीव
मानव को
व्यथित-पीड़ित करने में समर्थ होता है

क्यों...?
क्या इसका सिर्फ़ एक ही उत्तर नहीं है
कि ‘मानव बुद्धिजीवी है’


अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें