अन्तरजाल पर आपकी मासिक पत्रिका

अन्तरजाल पर साहित्य-प्रेमियों की विश्राम-स्थली
वर्ष: 13, अंक 114,  जनवरी प्रथम अंक, 2017
ISSN 2292-9754

लेखक या सम्पादक की लिखित अनुमति के बिना पूर्ण या आंशिक रचनाओं का पुर्नप्रकाशन वर्जित है। लेखक के विचारों के साथ सम्पादक का सहमत या असहमत होना आवश्यक नहीं।  सर्वाधिकार सुरक्षित। साहित्य कुंज में प्रकाशित रचनाओं में विचार लेखक के अपने हैं और साहित्य कुंज टीम का उनसे सहमत होना अनिवार्य नहीं है।
सम्पादक:- सुमन कुमार घई; साहित्यिक परामर्श:- डॉ. शैलजा सक्सेना; सहायता - विजय विक्रान्त; संरक्षक - महाकवि प्रो. हरिशंकर आदेश

कविता  |  कहानी  |  लघु-कथा  | सांस्कृतिक-कथा आपबीती  |  आलेख  |  हास्य-व्यंग्य  |   हास्य-व्यंग्य  |  हास्य/व्यंग्य कविताएँ
महाकाव्य  |  अनूदित-साहित्य  |  नाटक  |  लेखक  |  संकलन  |  ई-पुस्तकालय  |  साहित्यिक-चर्चा  |  शोध निबन्ध 
शायरी  |  शायर  |    बाल साहित्य  |  हिन्दी ब्लॉग  |  पुस्तक समीक्षा / पुस्तक चर्चा  |  साक्षात्कार  |  संपादकीय
इस अंक में  |  पुराने अंक  

सम्पादकीय: नव वर्ष की लेखकीय संभावनाएँ, समस्याएँ और समाधान -

प्रायः देखा जाता है कि साहित्य की एक विचारधारा मुख्य साहित्यिक मंच के मध्य में स्थापित हो जाती है, क्योंकि वह उस समय की आवश्यकता होती है। यह प्रक्रिया समस्या तब बन जाती है जब संपूर्ण साहित्य केवल मंच के इसी क्षेत्र तक ही सीमित हो जाता है पूरा पढ़ें...

आपके पत्र - शुद्ध लेखन युक्तियाँ - पुस्तक बाज़ार.कॉम -
 इस स्तंभ में साहित्य कुंज व हिन्दी साहित्य के बारे में आपके पत्र प्रकाशित किए जायेंगे।
रचनाओं पर अपनी प्रतिक्रिया के लिए रचना के नीचे "अपनी प्रतिक्रिया लेखक को भेजें" बटन पर क्लिक करें और अपनी प्रतिक्रिया तुरंत सीधे लेखक/लेखिका को भेजें। धन्यवाद -
इस अंक के पत्र -
१. हिन्दी व्याकरण -
    कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय  
    भारतकोश
    हिन्दी साहित्य\
२. कविता का व्याकरण एवं छंद - भारतकोश

हिन्दी की ई-पुस्तकें खरीदने और प्रकाशित करवाने के लिए कृपया नीचे दिये लिंक पर क्लिक करें: pustakbazaar.com
एंड्रॉयड उपकरणों (स्मार्ट फ़ोन, टैबलेट इत्यादि की ऐ्प डाउनलोड करें
अपने पीसी (कंप्यूटर के लिए ई-रीडर डाउनलोड करें
इस अंक की कहानियाँ -
रामजी
हर्ष सेठ
......गिलहरी
डॉ. पवन कुमार श्योराण
औरत, घोड़ा और तलवार
बलराज सिद्धू
हास्य-व्यंग्य - (आलेख) हास्य-व्यंग्य - कविता - सांस्कृतिक-कथा -
ज़िंदा-जी हरिद्वार यात्रा - डॉ. अशोक गौतम
गोद में गाँव, शहर बने स्मार्ट - आरिफा एविस
विश्व बैंक की रिपोर्ट व एक भिखारी से संवाद - सुदर्शन कुमार सोनी
भावना को समझो - सुशील यादव

पति की दास्तान - अवधेश कुमार झा
जादूगर - बृज राज किशोर "राहगीर"
खानदानी
कामिनी कामायनी
बाल साहित्य - लघु कथा -  साक्षात्कार-
देश की शान, विषयों का जाल, जन्मदिन, दिवाली - अर्चना सिंह "जया" राह, एक पुख़्ता सवाल - आशीष कुमार त्रिवेदी
रंग बदलता जुलूस - सुदर्शन कुमार सोनी
विडम्बना - अच्युत शुक्ल
आख़िरी सीख, बाबा का ढाबा, पति-पत्नी - सुभाष चन्द्र

आलेख शृंखला - साहित्य और सिनेमा -  शोध निबन्ध -  
इसी बहाने से-
मेपल तले, कविता पले
समीक्षा - 7
डॉ. शैलजा सक्सेना

अमेरिकी माफ़िया और अंडरवर्ल्ड पर आधारित उपन्यास: गॉड फ़ादर (The Godfather) 
प्रो. एम. वेंकटेश्वर
"सौत" से "कफ़न" तक की कथा यात्रा - प्रेमचंद - डॉ. उमेश चन्द्र शुक्ल
भाव सौन्दर्य: कविकुलगुरु कालिदास के अनुसार - रामकेश्वर तिवारी
निशान्त के काव्य में किसानी जीवन बोध - डॉ. दयाराम
अज्ञेय के निबन्ध-साहित्य में भारतीयता एवं अस्मिता बोध - डॉ. छोटे लाल गुप्ता
आलेख - शोध निबन्ध -  अनूदित साहित्य
तुलसी के राम - अच्युत शुक्ल नाटककार सुरेन्‍द्र वर्मा की संवेदना - अरुण प्रसाद रजक
दलित कविताओं में बयां संघर्ष और वेदना - आनंद दास
देवदासी
संध्या.. काली.. रात..
अनुवाद: नितिन पाटील
(मूल मरा्ठी आदिवासी कवि-  वाहरु सोनवणे)
कविताएँ - शायरी -
मेरे बच्चो, दीवाली का पहला दीप वहाँ धर आना... - डॉ. प्रतिभा सक्सेना
आत्मबोध - हर्ष सेठ
तुम्हारे आने से, कभी-कभी, सूरज तुम पलायन नहीं कर सकते...,, बहुत दिनों के बाद... - डॉ. विवेक कुमार
जीवन संघर्ष, दासियाँ सब जानतीं हैं हाशिये की आवाज़ - डॉ. कंचन वर्मा
सुनहरी धूप, प्रकृति के नियम, देह और आत्मा - अतुल चंद्रा
सत्य-असत्य से परे, नारों के नारायण, साक्षात्कार, ज़िंदा भी हूँ मुर्दा भी - मनोज मौर्या
निपटारा, जिल्द - पंखुरी सिन्हा

शब्द - अनिल कुमार
मन - लालजी सिंह यादव
ठंडे सवेरे सर्द रातें (हाइकु) - डॉ. सरस्वती माथुर
पानी - महेश रौतेला
प्यास - पारुल "पंखुरी"
बदस्तूर - अच्युत शुक्ल
मैं तो केवल इस फ़िज़ां में - निर्मल सिद्धू
ख़त लिखना तुम, लुटती है रोज़ प्यार की बारात देखिये, आजकल, जंग छोड़कर जो भागे थे... - वेणी शंकर पटेल "ब्रज"
काँटे पयम्बरों की तक़दीर में...., वो उलझा हुआ सवाल थी - विनोद कुमार दवे
पुस्तक समीक्षा / चर्चा-  पुस्तक समीक्षा / चर्चा-  पुस्तक समीक्षा / चर्चा- 

लोकजीवन की शक्ति से जुड़े सामर्थ्यवान व्यंग्यकार अशोक परूथी "मतवाला"
फारूक़ आफरीदी

"नहर में बहती लाशें"
प्रो. एम. वेंकटेश्वर

शव काटने वाला आदमी
प्रो. एम. वेंकटेश्वर
यात्रा संस्मरण - यात्रा संस्मरण - आप-बीती / संस्मरण -
कनाडा डायरी के पन्ने
14_स्वागत की वे लड़ियाँ
सुधा भार्गव
   
साहित्यिक समाचार -

"काव्यांकुर-4" काव्य संध्या एवं पुस्तक लोकार्पण समारोह 2016
संजय कुमार गिरि

रामेश्वर सिंह के आगमन पर स्नेह मिलन समारोह संपन्न
डॉ. ऋषभ देव शर्मा
गोइन्का पुरस्कार/सम्मान की घोषणा
विशेष संवाददाता द्वारा
ई - पुस्तकालय - (इस स्तम्भ में पुस्तकों का प्रकाशन धारावाहिक रूप में होगा) संकलन -

भीगे पंख
लेखक : महेश द्विवेदी
सतिया /एक/दो (२)

शकुन्तला
पूर्व खण्ड - प्रथम सर्ग
उदय-
7 8 9 10

महादेवी वर्मा
डॉ. हरिवंश राय बच्चन
आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी
त्रिलोचन शास्त्री
नागार्जुन
सूचना - साहित्य संगम -
साहित्य कुंज के नए अंकों की सूचना पाने के लिए अपना ई-मेल पता भेजें

Powered by us.groups.yahoo.com

अनुभूति-अभिव्यक्ति  
काव्यालय
लघुकथा.com
साहित्य सरिता
विचारों का वृन्दावन वन!
हिन्दी नेस्ट
सृजनगाथा
कृत्या
हिन्दी हाइकु
साहित्य सेतु
अपनी रचनाएँ भेजें:-
कृपया अपनी रचनाएँ निम्नलिखित ई-मेल पर भेजें
sahityakunj@gmail.com
अथवा डाक द्वारा भेजें:-
Sahitya Kunj,
3421 Fenwick Crescent
Mississauga, ON, L5L N7
Canada