अन्तरजाल पर आपकी मासिक पत्रिका

अन्तरजाल पर साहित्य-प्रेमियों की विश्राम-स्थली
वर्ष: 10, अंक 101,  दिसम्बर प्रथम अंक, 2015
ISSN 2292-9754

लेखक या सम्पादक की लिखित अनुमति के बिना पूर्ण या आंशिक रचनाओं का पुर्नप्रकाशन वर्जित है। लेखक के विचारों के साथ सम्पादक का सहमत या असहमत होना आवश्यक नहीं।  सर्वाधिकार सुरक्षित। साहित्य कुंज में प्रकाशित रचनाओं में विचार लेखक के अपने हैं और साहित्य कुंज टीम का उनसे सहमत होना अनिवार्य नहीं है।
सम्पादक:- सुमन कुमार घई; साहित्यिक परामर्श:- डॉ. शैलजा सक्सेना; सहायता - विजय विक्रान्त; संरक्षक - महाकवि प्रो. हरिशंकर आदेश

कविता  |  कहानी  |  लघु-कथा  |  लोक-कथा  |  आपबीती  |  आलेख  |  हास्य-व्यंग्य  |   हास्य-व्यंग्य  |  हास्य/व्यंग्य कविताएँ

महाकाव्य  |  अनूदित-साहित्य  |  नाटक  |  लेखक  |  संकलन  |  ई-पुस्तकालय  |  साहित्यिक-चर्चा  |  शोध निबन्ध  |  साहित्यिक-समाचार    शायरी   शायर   बाल साहित्य  |  हिन्दी ब्लॉग  |  पुस्तक समीक्षा / पुस्तक चर्चा  |  साक्षात्कार  |  संपादकीय
इस अंक में  |  पुराने अंक

सम्पादकीय:
आज लगभग दस महीने के बाद फिर से साहित्य कुंज को पुनर्जीवत करने का प्रयास कर रहा हूँ। मैं उन लेखकों से क्षमायाचना भी कर रहा हूँ जो उत्सुकता से अपनी रचनाओं के प्रकाशन की प्रतीक्षा कर रहे थे। मैं उनको विश्वास .... आगे पढ़िए

इस अंक में कहानियाँ -
हत्यारे
सुशांत सुप्रिय
बुद्धा जी….
शिवानी कोहली 'अनामिका'
भूख
अशोक परुथी "मतवाला"
हास्य - व्यंग्य - बाल साहित्य - लघु कथा -
बुढ़ौती में तीरथ - तारकेश कुमार ओझा
दिले नादां तुझे हुआ क्या है ...? - सुशील यादव
हाथी दादा पूजे जाते, गप्पी - प्रभुदयाल श्रीवास्तव कण्डक्टर, दारोगाजी - बृजमोहन गौड़
अच्छे बेटे का फर्ज, ठेस, स्वारथ लागि - सुभाष चन्द्र लखेड़ा
आलेख - साहित्य और सिनेमा -  शोध निबन्ध -  


मेरी घरेलू लाइब्रेरी - बी एन गोयल

विश्व की महान औपन्यासिक कृति ‘वार एंड पीस‘ (युद्ध और शांति)
डॉ. एम वेंकटेश्वर
समकालीन कविता की ज़मीन - अखिलेश गुप्ता
आदिवासी कविता : स्वयं को तलाशती स्त्री - डॉ. विशाला शर्मा
फीचर लेखन : साहित्य और पत्रकारिता सुंदर समन्वय - डॉ. सुनिल डहाळे
ज़िन्दगी के उत्सव में छिपी विडंबनाओं का सशक्त चित्रण - "दौड़" - दीप्ति शर्मा
साहित्यिक निबन्ध - साक्षात्कार -  अनूदित साहित्य
डॉ. विमला भण्डारी का काव्य-संसार - दिनेश कुमार माली डॉ. भारतेन्दु मिश्र से उनके अवधी लेखन पर बातचीत
डॉ. रश्मि शील
 
कविताएँ - शायरी -
शून्य से जोड़ बाकी गुणा भाग में - राकेश खण्डेलवाल
विंडो शॉपिंग, रीती गागर - प्रवीण शर्मा
हार मानूँगा नहीं, गाजर-घास उग आई है, केसर के बागानों में, फुरसतिया प्रदेश, भय - अनिरुद्ध सिंह सेंगर
दूरी के ये पल, चले जा रहे हैं..... - विकास वर्मा
अब की बरसात में, हाहाकार के कुछ अंश - बृजमोहन गौड़
दर्पण हूँ मैं, इश्क़ कभी भी लफ़्ज़ों का, बस प्यार-प्यार वो प्यार है, देखो मेरी आँखों में, बाजे मृदंग जैसे - अर्चना पंडा
अब उनका आना, आधी नींद में, उस सूनी बस्ती में, नया रिश्ता, जूते, ऐसा पहली बार नहीं हुआ था - दीपक पाटीदार
बनारस चार कविताएँ
1. बनारस के घाट, 2. बनारस साधारण तरीके का असाधारण शहर, 3. यह जो बनारस है, 4. काशी में शिव संग - डॉ. मनीषकुमार सी. मिश्रा

रिश्ते, गीत कहीं कोई गाता है, व्याकुल - अजय चंदेल
औरत - अनुपम एस. "श्लोक"
कुछ प्रश्न पवन से, दस्तावेज़ समय का - कमला घटऔरा
मैं हूँ एक नदिया (गीतिका), मुक्तक-१ - पीड़ा से एक आँसू फूटा - डॉ. शिप्रा शिल्पी
पी.एच.डी. डिग्री - डॉ. शिप्रा वर्मा
प्रेम की सम्भावना, दिन की डिमांड, एक दिन, आमंत्रण - सुरेन्द्र कुमार सिंह चांस
कौन परिन्दें को आ के, पीड़ा से इक आँसू फूटा - डॉ. शिप्रा शिल्पी
या रब तू मुझको ऐसा जीने...., आदमी ख़ुद से मिला हो तो, कुछ लोग जी रहे हैं..., हर पल की तुम बात न पूछो, रखते थे इत्‍तेफ़ाक जब - मोहम्मद इरशाद
बात की बात, हाल - गुरदीप सिंह कोहली "अंजुम कानपुरी"
ज़मीं उनकी है आसमां नसीब नहीं - रजनीकान्त राकेश
शायरी के इस सरो - सामान का - रामश्याम हसीन
पुस्तक समीक्षा / चर्चा-  पुस्तक समीक्षा / चर्चा-  पुस्तक समीक्षा / चर्चा- 

अनुप्रयुक्त भाषाविज्ञान की व्यावहारिक परख
प्रो. ऋषभदेव शर्मा

महीन सामाजिक छिद्रों को उघाड़ती कहानियाँ
डॉ. अनुराधा शर्मा

साहित्यिक समाज की दशा, दिशा और चुनौतियां : ‘जमाने में हम’
एम.एम. चन्द्रा
यात्रा संस्मरण - संस्मरण-  संकलन -
डायरी के पन्ने
कनाडा सफ़र के अजब अनूठे रंग

03_ ऊँची दुकान फीका पकवान
सुधा भार्गव

कामना उर्फ़ कल्पना
(पुनर्जन्म पर आधारित सत्य घटना)
नीरजा द्विवेदी
इस अंक में
महादेवी वर्मा
डॉ. हरिवंश राय बच्चन
आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी
त्रिलोचन शास्त्री
नागार्जुन
ई - पुस्तकालय - (इस स्तम्भ के अन्तर्गत पुस्तकों का प्रकाशन धारावाहिक रूप में होगा)

भीगे पंख
लेखक : महेश द्विवेदी
मोहित और सतिया /एक/
 
शकुन्तला
इस अंक में चतुर्थ सर्ग - प्रमोद ६ महाकवि प्रो. हरिशंकर आदेश
(अगले अंक से)
साहित्यिक समाचार -

कैनेडा के मंच पर दिखाई दी – "झाँकी हिन्दुस्तान की"
हिन्दी राइटर्स गिल्ड का ७वां वार्षिकोत्सव धूमधाम से संपन्न

बाल साहित्यकारों ने की ‘बच्चों से बच्चों की बातें’
प्रस्तुति: अभिनव बालमन

ऋषभदेव शर्मा की पुस्तकों का लोकार्पण संपन्न
डॉ. गुर्रमकोंडा नीरजा

दुःख, सन्तोष श्रीवास्तव की कहानियों का स्थायी भाव है
प्रस्तुति: सुमिता केशवा

रचना गौड़ भारती सम्मानित

“नई सदी के हिंदी साहित्य की बदलती प्रवृत्तियाँ” पर बीजापुर में राष्ट्रीय संगोष्ठी संपन्न
डॉ. गुर्रमकोंडा नीरजा
     
सूचना - साहित्य संगम -
साहित्य कुंज के नए अंकों की सूचना पाने के लिए अपना ई-मेल पता भेजें

Powered by us.groups.yahoo.com

हिन्दी राइटर्स गिल्ड
 अनुभूति-अभिव्यक्ति  
 काव्यालय
 वागर्थ (भारतीय भाषा परिषद.Com)
 हंस
 साहित्य सरिता
हिन्दी नेस्ट
सृजनगाथा
कृत्या
लघुकथा
साहित्य सेतु
हिन्दी ब्लॉग
अपनी रचनाएँ भेजें:-
कृपया अपनी रचनाएँ निम्नलिखित ई-मेल पर भेजें
sahityakunj@gmail.com
अथवा डाक द्वारा भेजें:-
Sahitya Kunj,
3421 Fenwick Crescent
Mississauga, ON, L5L N7
Canada