अन्तरजाल पर आपकी मासिक पत्रिका

अन्तरजाल पर साहित्य-प्रेमियों की विश्राम-स्थली
वर्ष: 10, अंक 95,  दिसम्बर प्रथम अंक, 2014
ISSN 2292-9754

लेखक या सम्पादक की लिखित अनुमति के बिना पूर्ण या आंशिक रचनाओं का पुर्नप्रकाशन वर्जित है। लेखक के विचारों के साथ सम्पादक का सहमत या असहमत होना आवश्यक नहीं।  सर्वाधिकार सुरक्षित। साहित्य कुंज में प्रकाशित रचनाओं में विचार लेखक के अपने हैं और साहित्य कुंज टीम का उनसे सहमत होना अनिवार्य नहीं है।
सम्पादक:- सुमन कुमार घई; साहित्यिक परामर्श:- डॉ. शैलजा सक्सेना; सहायता - विजय विक्रान्त; संरक्षक - महाकवि प्रो. हरिशंकर आदेश

कविता  |  नवगीत  |  शायरी  |  कहानी  |  लघु-कथा  |  सांस्कृतिक-कथा  |  आपबीती  |  आलेख  |  महाकाव्य  |
हास्य-व्यंग्य  |  हास्य/व्यंग्य कविताएँ  |  अनूदित-साहित्य  |  नाटक  |  बाल साहित्य  |  संकलन  |  ई-पुस्तकालय  |  शोध निबन्ध |  साहित्यिक-चर्चा  |  लेखक  |  शायर  |  पुस्तक समीक्षा / पुस्तक चर्चा  | साक्षात्कार  |  संपादकीय |
इस अंक में  |  पुराने अंक 

सर्वेक्षण : आधुनिक युग में पुस्तक प्रकाशन के विविध विकल्प उपलब्ध हैं। इन विकल्पों में सबसे अधिक लोकप्रिय और सहज ई-बुक्स है। यह पुस्तकें आप ई-रीडर, स्मार्ट फोन, टैब्लेट्स, पीसी और लैपटॉप पर पढ़ सकते हैं। यह पुस्तकें आपके व्यक्तिगत पुस्तकालय का भाग बन जाती हैं। ई-बुक्स की कीमत आम पुस्तकों से बहुत कम होती है और और प्रकाशन भी बहुत सस्ता होता है। यह आपकी शेल्फ़ पर जगह भी नहीं घेरतीं। इस विकल्प के बारे में साहित्य कुंज ने एक सर्वेक्षण करने का प्रयास शुरू किया है। आप सुधी पाठकों से निवेदन है कि इसमें अवश्य हिस्सा लें। इंटरनेट पर साहित्य के नए विकल्प के लिये यह महत्वपूर्ण है।
                                                   - सुमन कुमार घई
                                                     सर्वेक्षण आरम्भ करें :

इस अंक में —

कहानियाँ
कविताएँ
शायरी
हास्य-व्यंग्य
ललित निबन्ध
बाल साहित्य

लघु कथा
निबन्ध/ आलेख
पुस्तक चर्चा / साहित्य चर्चा/
पुस्तक समीक्षा

ई-पुस्तकालय
यात्रा संस्मरण

संकलन
सूचना
अनूदित साहित्य
साहित्यिक समाचार
महाकाव्य
साहित्य संगम

इस अंक में कहानियाँ -
थोड़ी सी जगह
विमला भंडारी 
बयान
सुशांत सुप्रिय
बिहार का साला
सुधीर सिंह "सुधाकर"
हास्य - व्यंग्य - बाल साहित्य - लघु कथा -
हमारी पार्टी ही देश को बचायेगी - हरि जोशी
दाँत निपोरने की कला - सुशील यादव
फोटू तुम्हारे - विमला भंडारी
परिवर्तन (कहानी) - रमेश ‘आचार्य’
मेरी नींद नहीं खुल पाती, मुन्नी बोली ही ही ही ही -प्रभुदयाल श्रीवास्तव
बड़ा आदमी पति, सहिष्णुता, पलायन -सुदर्शन कुमार सोनी
करारा झटका - तपोजा दत्ता
आलेख -  शोध निबन्ध -  शोध निबन्ध -  

एम. एफ. हुसैन - शैलेन्द्र चौहान
बनारस के बुनकरों की वर्तमान स्थिति -
डॉ. मनीषकुमार सी. मिश्रा
हिन्दी भाषा में रोज़गार की सम्भावनाएँ
डॉ. हरेन्द्र सिंह
गोगाजी लोकगाथा में नारी जीवन की अभिव्यक्ति
सरिता विश्नोई
हिन्दी में व्यंग्य उपन्यासों की परम्परा का अनुशीलन
सन्तोष विश्नोई
हिन्दी उपन्यास में दृष्टि एवं महत्व
डॉ. राम मनोहर उपाध्याय
साहित्यिक निबन्ध - साहित्य और सिनेमा - विशेष रिपोर्ट

अज्ञेय कृत "शेखर - एक जीवनी" का पुनर्पाठ
डॉ. एम वेंकटेश्वर

बोरिस पास्टरनाक की अमर कृति 'डॉ. ज़िवागो' : साहित्य और सिनेमा
डॉ. एम वेंकटेश्वर

 साहित्यकारों को एक महत्वपूर्ण चुनौती देती रिपोर्ट
स्वप्नदर्शी बाल-साहित्यकार सम्मेलन
दिनेश कुमार माली
कविताएँ - शायरी -
बस स्टॉप पर......, दो पाटन की चक्की -शिवानी कोहली 'अनामिका'
एक शोर था, एक वीरानगी थी - डॉ. सारिका कालरा
कविता हूँ, मैं तो कोई कवि नहीं, क्योंकि अब समय आ गया है बदलाव का - अनुराग सिंह
लव यू, मौसम, पतझड़, लिपस्टिक, ख़्वाब, शबनम, मैं कहाँ का शायर - विजय सूरी "अज़ीज़"
नारी! - रजनीकान्त राकेश
माँ भी झूठ बोलती है, लड़कियाँ, दिल पर ले यार - मनोरंजन कुमार तिवारी
मैंने सबसे पहले - महेश रौतेला
विडंबना, उहापोह, स्वयं से स्वयं तक - अनवार एम. सिद्दीकी
लौटना, एक ठहरी हुई उम्र, हर बार
प्यार - विकास वर्मा
अर्थ छिपा ज्यूँ छन्द - (दोहे) - विश्वम्भर पाण्डेय 'व्यग्र'
आधार - सविता अग्रवाल ’सवि’
याद, जब भी बोल, सत्य - विमला भंडारी

मैं समय हूँ?, राजनेता - आचार्य बलवन्त
सच, कवि प्रसाद -सुधीर सिंह "सुधाकर"
दिल बेक़रार क्यों है? - प्रो. भूपेन्द्र मिश्रा “सूफ़ी”
इंसान होना बाक़ी है, चाहता हूँ - चरणजीत सिंह
कई ख़ुदा मुझको यहाँ तक लाए हैं डॉ. कौशल किशोर श्रीवास्तव
ख़ला को छू के आना चाहता हूँ - प्रखर मालवीय "कान्हा"
बुलंदी की चढ़ाई यार मेरे.. - शालिनी श्रीवास्तव "शानू"
आज के विद्वान् - डॉ. अनिल चड्डा
पुस्तक समीक्षा -  पुस्तक समीक्षा -  पुस्तक चर्चा

सदियों से अनसुनी आवाज़ - दस द्वारे का पींजरा
प्रदीप श्रीवास्तव

यार जुलाहे संवेदना और जीवन आनंद
प्रदीप श्रीवास्तव

जीवन के कैनवास पर अनुभवों के गहरे रंग भरती ‘स्वर्ण सीपियाँ
संजय आटेड़िया
यात्रा संस्मरण - संस्मरण-  संकलन -
Kailash
कैलाश-मानसरोवर यात्रा - प्रेमलता पांडे
बाइसवाँ दिन - 25/6/2010
तेइसवाँ दिन -26/6/2010
कन्या-भ्रूण हत्या से संबंधित संस्मरण शृंखला 
हादसा - ८ कहीं श्राप तो नहीं???
कविता गुप्ता
इस अंक में
महादेवी वर्मा
डॉ. हरिवंश राय बच्चन
आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी
त्रिलोचन शास्त्री
नागार्जुन
ई - पुस्तकालय - (इस स्तम्भ के अन्तर्गत पुस्तकों का प्रकाशन धारावाहिक रूप में होगा)
 
भीगे पंख
लेखक : महेश द्विवेदी
मोहित-रज़िया-सतिया

शकुन्तला
इस अंक में चतुर्थ सर्ग - प्रमोद ६ महाकवि प्रो. हरिशंकर आदेश
(अगले अंक से)
साहित्यिक समाचार -

डॉ. ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ को प्रथम हरिकृष्‍ण देवसरे पुरस्‍कार
अर्शिया अली

डॉ. जोराम यालाम नाबाम को प्रथम साहित्य मंथन सृजन पुरस्कार प्रदत्त
डॉ. गुर्रमकोंडा नीरजा

डॉ. विमला भंडारी को मिला श्रेष्ठ कहानी पुरस्कार

सुश्री सीमा गुप्ता "आगमन तेजस्विनी सम्मान -2014" से सम्मानित

दिव्या माथुर के उपन्यास 'शाम भर बातें' का लोकार्पण


स्वप्नदर्शी बाल-साहित्यकार सम्मेलन
दिनेश कुमार माली
सूचना - साहित्य संगम -
साहित्य कुंज के नए अंकों की सूचना पाने के लिए अपना ई-मेल पता भेजें

Powered by us.groups.yahoo.com

हिन्दी राइटर्स गिल्ड
 अनुभूति-अभिव्यक्ति  
 काव्यालय
 वागर्थ (भारतीय भाषा परिषद.Com)
 हंस
 साहित्य सरिता
हिन्दी नेस्ट
सृजनगाथा
कृत्या
लघुकथा
साहित्य सेतु
हिन्दी ब्लॉग
अपनी रचनाएँ भेजें:-
कृपया अपनी रचनाएँ निम्नलिखित ई-मेल पर भेजें
sahityakunj@gmail.com
अथवा डाक द्वारा भेजें:-
Sahitya Kunj,
87, Scarboro Ave.
Scarborough, Ont M1C 1M5
Canada